हरमनप्रीत कौर भारतीय क्रिकेट टीम में आल राउंडर के तौर पर खेलती है. पंजाब से ताअल्लुक रखने वाली हरमनप्रीत कौर को महिला क्रिकेट विश्व कप में अपने प्रदर्शन के लिये जाना जाता है. हरमनप्रीत कौर ऐसी खिलाड़ी हैं जिसे देखकर लड़कियों की दिलचस्पी क्रिकेट की तरफ बढ़ रही है.

हरमनप्रीत कौर ने अपने क्रिकेट खेल की शुरुआत 2009 में 20 साल का उम्र में पाकिस्तान की टीम के ख़िलाफ खेल के की. जून 2009 में इन्होंने Twenty20 क्रिकेट में अपना डेब्यू किया. 2012 में महिला Twenty20 एशिया कप में इन्हें कप्तानी करने का मौका मिला. उस वक़्त कप्तान मिताली राज और उपकप्तान झुलन गोस्वामी दोनों ही घायल होने की वजह से मैच से बाहर हो गये थे. इसमें पाकिस्तान के ख़िलाफ इन्हें कप्तानी करने का मौका मिला. भारत, पाकिस्तान को 81 रन से हराकर कप को अपने नाम कर लिया था.

2013 में इन्हें बांग्लादेश दौरे के लिये टीम की कप्तानी करने का मौका मिला. वहां पर वनडे सीरिज़ के दूसरे मैच में उन्होंने अपना दूसरा शतक मारा. इस सीरिज़ में उन्होंने 195 रन बनायें और उनका औसत 97.5 रहा. इस टूर्नामेंट में उन्होंने 2 विकेट भी लिये.

हरमनप्रीत वह खिलाड़ी है जो वीरेंद्र सहवाग से प्रभावित है. इनके प्रदर्शन से हम यह दावा कर सकते है कि आने वाले वक़्त में भी हरमनप्रीत कौर, भारत के लिये एक महत्वपूर्ण रोल अदा करेंगी.

साल 2014 में हरमनप्रीत ने टेस्ट में अपनी शुरुआत की. उन्होंने इंग्लैड के खिलाफ अपना पहला टेस्ट खेला. वही 2015, में इन्होंने दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ खेलते हुये 9 विकेट झटके. उनके प्रदर्शन की बदौलत भारत को टेस्ट मैच पारी से जितने का मौका मिला.

इसके बाद 2016 में आस्ट्रेलिया के विरुध खेलते हुये इन्होंने 31 गेंदों में 46 रन बनायें. उनके शानदार प्रदर्शन की वजह से भारत ने सीरिज़ जीत ली.

साल 2017 हरमनप्रीत के शानदार प्रदर्शन के लिये जाना जायेंगा. इस साल महिला विश्व कप क्रिकेट के सेमी-फाइनल में इन्होंने आस्ट्रेलिया के ख़िलाफ 115 गेदों में 171 रनों की नाबाद पारी खेली. इन्होंने अपनी मेहनत और लगन से न सिर्फ भारतीय टीम में अपना स्थान बनाया बल्कि इन्होंने अपने खेल से देश को भी कामयाबी हासिल कराई.