हमारे देश में नारीवाद को हर जगह फैलाना चहिये। ये नारीवाद उन जगहों के लिए भी है जहां एक औरत को सिर्फ घर चलाने का काम दिया जाता है। ऐसी जगहों पे,औरतो और लड़कियों को अपने आप को आर्थिक तरह मजबूत बनाता है। उद्योग क्षेत्र में लड़कियों को अपने कदम क्यों रखने चाहिए, आइए देखते है.

आर्थिक मजबूती के लिए

आर्थिक रूप से मजबूत औरत ही आज के समय में अपनी बात बिना किसी डर और झिझक के रख सकती है। ये लड़कियां आगे जाकर किसे पे निर्भर ना रहे और घरेलू हिंसा की शिकार या पीड़ित न बने। ये अपने बल बुते पर अपने परिवार की सहायता कर सकती है और अपने बच्चों का खयाल रख सकती है। घर से उद्यमती बन इनके लिए ये कार्य और आसान बन जाता है।

पहचान बनाना

एक महिला के लिए अपनी पहचान बनाना और इज़्ज़त कामना बोहोत आवश्यक होता है। वो चाहेगी की उसके बेचे गए समान द्वारा उसकी पहचान बने और उस के बारे में लोगो को पता चले। छोटे से छोटे जगह पे अच्छी पहचान उसे एक बड़े स्तर पे लेके जा सकता है। वो ऊँचे स्थर पे भी पैसे कमा सकती है और अपने आप को और शशक्त कर सकती है।

परिवार को आर्थिक रूप से मदद मिलना

उद्यमती महिला इस क्षेत्र मे आ अपने परिवार की बड़े अच्छे से सहायता कर सकती है और ये बता सकती है कि सिर्फ पुरुष ही नही बल्कि वो भी कमा सकती है । वो अपने बच्चो को अच्छा आने वाला कल प्रदान कर सकती है और पूरे परिवार का खर्चा चला सकती है।

संस्थान से जुड़ के मॉडर्न तरीको से काम करना

जब आप धीरे धीरे बोहोत सी संस्थाओं से जुड़ते है तो आप एक नई दुनिया को अपनाते है । ग्लोबलिसशन के समय में हर कोई मॉडर्न तकनीक समझने में लगा हुआ है और अपनाने में लगा हुआ है। ऐसे लोगो के संपर्क में आकर आप अपने विचारों को बदलते है जैसे कि परिवार बनाने का प्लान। कम बच्चे करना, कंप्यूटर का सही इस्तेमाल करना ।इसके वजह से आप नए विचारों को गले लगाएंगे।

सबको एक साथ लेके चलना

आपको देख के काफी लड़कियां आपसे प्रेरित होयेगी और आपकी राह पर चलना चाहेंगी । एक का विकास सबका विकास होता है। आप सबको एक साथ लेके चलेगी और एक पूरे गाँव की औरतों का भला होगा। इसी तरह1 देश का विकास भी होगा आपके साथ साथ।

Email us at connect@shethepeople.tv