स्टेम सब्जेक्ट्स लेने की दौड़ में महिलाएं पुरुषों से काफी पीछे रही हैं। विनीता मरवाहा मदिल्ल, जो लड़कियों को स्टेम सब्जेक्ट्स लेने की वकालत करती हैं, वे इस क्षेत्र में लड़कियों की स्वीकृति को बढ़ाना चाहती हैं। यूनाइटेड किंगडम में बड़े होने के बाद, भारतीय मूल की विनीता वर्तमान में यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ईएसए) पर आधारित है जहां वह अंतरिक्ष संचालन इंजीनियर के रूप में भविष्य की मानव स्पेसफ्लाइट परियोजनाओं पर काम कर रही है। विनीता ईएसए के लिए स्पेससूट डिजाइन में भी शामिल रही हैं।

विनीता, जो अपने 30 के दशक की शुरुआत में है, उन्होंने दुनिया भर की महिलाओं को प्रेरित करने और अंतरिक्ष और प्रौद्योगिकी उद्योगों में काम करने के लिए सलाह देने के लिए एक मंच, रॉकेट वीमेन भी शुरू किया है। उन्होंने शीदपीपल से बात करते हुए अपनी वेबसाइट “रॉकेट वीमेन” की बात की।

रॉकेट वीमेन का विचार

“मैंने यह अनुभव किया कि मेरे साथ प्रगति करने वाली काफी लड़कियों ने इंजीनियरिंग का पूरा सफर तय नहीं किया। उनकी संख्या में गिरावट हुई जिसे हम ‘लीकी पाइपलाइन’ सिंड्रोम कह सकते हैं। यू.के में केवल 15% इंजीनियरिंग स्नातक महिलाएं हैं। इसलिए रॉकेट वीमेन एक प्रयास है जहां लड़कियों को स्कालरशिप भी दी जाएगी जो इंजीनियरिंग या विज्ञान पढ़ना चाहती हैं। स्कालरशिप के बिना तो शायद मैं भी अपनी पढाई पूरी नहीं कर पाती”।

रॉकेट वीमेन एक अंतर लाना चाहता है। यह ज्यादा से ज्यादा लड़कियों को स्टेम सब्जेक्ट्स लेने के लिए प्रेरित करेगा ताकि महिलाएं अपनी प्रतिभा दिखा सकें और इंजीनियरिंग में उनकी 50% की भागीदारी हो।

युवा महिलाओं के लिए प्रेरणा

विनीता अपनी वेबसाइट के जरिये उन महिलाओं की कहानियां सामने लाना चाहती हैं जिन्होंने स्टेम सब्जेक्ट्स से अपना करियर बनाया है।

“मैंने यह प्लेटफार्म इसलिए बनाया ताकि उन महिलाओं को अपनी राय रखने का एक मंच मिले। मैं दुनिया भर में ऐसी महिलाओं के इंटरव्यूज ले रही हूँ, खासकर जो अंतरिक्ष में हैं। इन इंटरव्यूज को मैं अपनी वेबसाइट पर पोस्ट करती हूँ”।

विनीता के अनुसार यह युवा महिलाओं को यह एहसास दिलाएगा कि वे अपनी ज़िंदगी में जो करना चाहती हैं, वह कर सकती हैं। वे स्टेम सब्जेक्ट्स में महिलाओं की गिनती बढ़ाना चाहती हैं ताकि वे भी अपने सपनों को साकार कर सकें। वे मानती हैं की हमारी ज़िंदगी में किसी रोल मॉडल का होना ज़रूरी है।

लड़कियों के लिए सलाह

ज़रूरी है कि आप जो भी पढाई कर रहीं है, जो भी काम कर रहीं है, वह सही ढंग से करें। स्नातकों को अपने पैशन के लिए काफी ध्यान केंद्रित होना चाहिए।

“अपना मकसद पूरा करना आसान है चाहे वह किसी अंतरिक्ष इंडस्ट्री में काम करना हो या कहीं और। यह लगन और मेहनत जरूर मांगता है लेकिन वह आपको पूरी तरह से लायक बना देता है। अपने पैशन के लिए कार्य करना और उसमे जुटे रहना जरुरी है”।

स्टेम सब्जेक्ट्स की ओर आकर्षण

एमआईटी के प्रोफेसर डावा न्यूमैन ने सही कहा कि आपको “गणित और विज्ञान में सर्वश्रेष्ठ” होने की ज़रूरत नहीं है और न अपनी कक्षा में सबसे ऊपर होने की, “आपको बस मानव जाति की मदद करनी है। यह जुनून होना चाहिए”।

“हमे यह टकसाली बदलनी होगी की कोई अंतरिक्ष इंजीनियर या कोई और हमेशा पुरुष या पढ़ाकू नहीं होता। लड़कियों को यह समझना होगा की पढ़ाकू होना या सिर्फ स्मार्ट होना कुछ गलत नहीं है। लड़कियों को बदलते हुए तकनीकी वातावरण में खुद को ढालने के लिए यह ज्ञान होना ज़रूरी है। लड़कियों को साथ ही यह अंदाज़ा भी होना ज़रूरी है कि स्टेम सब्जेक्ट्स से उनके करियर पर कितना प्रभाव पड़ सकता है। अगर आप स्टेम सब्जेक्ट्स लेना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको बेस्ट होने की ज़रूरत नहीं है। आपको अपने काम में प्रवीण होना चाहिए और साथ ही उसका आनंद लेना चाहिए”।

Email us at connect@shethepeople.tv