अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची ट्विंकल शर्मा की गला दबाकर हत्या करने के आरोप में दो लोगों को बुधवार को गिरफ्तार किया गया है। छोटी बच्ची का शव 2 जून को टप्पल जिले, अलीगढ़ में एक कूड़े के ढेर के पास एक कचरा इकट्ठा करने वाले व्यक्ति को मिला था, जिसने उसी समय पुलिस को इसके बारे में सूचित किया था। पुलिस ने हत्या के दो आरोपियों की पहचान जाहिद और असलम के रूप में की है और कहा है कि यह एक वित्तीय विवाद का मामला है। दोनों आरोपियों ने लड़की के माता-पिता को 10,000 रुपये दिए थे जो वो चूका नहीं पाए थे और पैसे चुकाए नहीं जाने पर उन्होंने बेटी को मार डाला।

जबकि बच्ची के साथ कथित तोर पे हिंसा भी हुई है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कुछ ख़ास नहीं कहा गया है सिवाए इस बात को छोड़कर कि हत्या से पहले उसका बलात्कार नहीं किया गया था।

अलीगढ़ पुलिस ने ट्वीट किया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बलात्कार से इंकार किया गया है। एक वित्तीय विवाद में बच्ची  का गला घोंट दिया गया। इस मामले में दो व्यक्तियों- ज़ाहिद और असलम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

“पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का कारण के रूप में गला घोंटकर मारना बताया गया है। सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि पीड़िता की आंखें फटी हुई थीं और उसकी बाज़ू की नसें भी काटी हुई थीं। साथ ही, यह दावा भी किया गया है कि उसके शरीर पर एसिड डाला गया था, यह सभी दावे जूठे है। ऐसी कोई बात नहीं हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पीड़ित के परिवार के साथ साझा की गई है, ”आकाश कुलहरि, एसएसपी अलीगढ़ ने ऑल्ट न्यूज़ को बताया।

लड़की के पिता एक मजदूर का काम करते हैं और माँ एक गृहिणी है, टीओआई की रिपोर्ट में बताया गया है । इलाके के स्थानीय निवासियों ने कस्बे में आना- जाना बांध कर दिया है और पुलिस पर मामले में तेजी से कार्रवाई करने का दबाव बना रहे हैं। लड़की के दादा ने टीओआई को बताया कि वह गायब होने से पहले अपने घर के बाहर खेल रही थी । उन्होंने कहा, “हम सभी ने उसकी तलाश शुरू कर दी और उसके बाद उसका पता लगाने में नाकाम रहने के बाद हमने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।”

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण ,गला घोंटकर मारना बताया गया है। सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि पीड़िता की आंखें फटी हुई थीं और उसकी बाजू की नसें भी कटी हुई थीं। साथ ही, यह दावा कि उसके शरीर पर एसिड डाला गया था, सब जूथ है। ऐसी कोई बात नहीं हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पीड़ित के परिवार के साथ साझा की गई है, ”

उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके पड़ोसी ज़ाहिद ने कुछ दिनों पहले उन्हें 10,000 रुपये चुकाने के लिए दबाव डालने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी, जिसे उन्होंने अपने पिता के इलाज के लिए उधार लिया था। इस बीच, लड़की की मां ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी को मारने के लिए “काले जादू” का इस्तेमाल भी किया गया था।

एसपी मणिलाल पाटीदार ने टीओआई को बताया, “लड़की की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से कुछ अच्छे से पता चल नहीं पा रहा है  क्योंकि शरीर बुरी तरह से ख़राब हालत में था।”

पुलिस ने कहा कि दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 363 (अपहरण) और धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है। यह मामला तेजी से न्याय के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का रुख करेगा और पुलिस राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत भी मामले की जांच कर रही है।

“हम इसे एनएसए मामले के रूप में आगे बढ़ा रहे हैं, हम इसे एक फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाने की कोशिश करेंगे। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बलात्कार या तेजाब का कोई जिक्र नहीं है।

Email us at connect@shethepeople.tv