बुंदेले हरबोलों के मुँह हमने सुनी कहानी थी,
खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी थी।

झाँसी की रानी, लक्ष्मीबाई का जन्म-नाम मणिकर्णिका था. उन्हें सब प्यार से मनु बुलाते थे. २३ साल की उम्र में अंग्रेज़ों से युद्ध में उनकी मौत हो गई. मनु के साहस और कौशल ने उन्हें इतिहास में एक ख़ास जगह दी.

और अब, 2019 में उनके जीवन पर आधारित फिल्म भी रिलीज़ हो रही है, ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’.

फिल्म में नायिका(मनु) का रॉल कंगना रनौत निभा रही है. कंगना, जो की अपनी महिला केंद्रित फिल्मों और खूबसूरत एक्टिगं के लिए काफी प्रशंसित है, इस फिल्म में बतौर डायरेक्टर भी डेब्यू कर रही है. कंगना के लिए यह फिल्म बहुत ख़ास और उनका ड्रीम प्रोजेक्ट है. फिल्म की कहानी बाहुबली के लेखक, विजयेंद्र प्रसाद और प्रसून जोशी ने लिखी.

कल ही रिलीज़ हुआ, फिल्म का ट्रेलर, जो की तीन मिनट 19 सेकेंड का है. ट्रेलर में झाँसी की रानी की ज़िन्दगी के कई पहलुओं को दर्शाया गया है.

ट्रेलर देख कर कई बातें सामने आई, कुछ खूबियां तो कुछ कमियां:

फिल्म में एक्शन सीन्स

ट्रेलर में एक्शन सीन्स काफी जबरदस्त थे, जिन्हे देख बाजीराव मस्तानी और बाहुबली की याद आगई. कंगना के स्टंट्स कमाल के है. उन्होंने तलवारबाज़ी तक सीखी, ताकि सीन्स वास्तविक लगे. दात देनी पड़ेगी, काम के प्रति और रॉल के प्रति डेडिकशन के लिए.

फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी लिखने में बहुत बारिकी और ध्यान दिया गया है. लक्ष्मी बाई क जीवन पर आधारित, इस फिल्म में एक बच्ची, एक लड़की, एक रानी, एक माँ, एक योद्धा और एक महिला के रूप में उनके जीवन के हर पहलु को दिखने की बखूबी कोशिश की गई है.

फिल्म में संवाद, बैकग्राउंड म्यूजिक में कमी

उस समय की भाषा को ध्यान में रख कर, फिल्म में संवाद कमज़ोर दिखाई दिया. कंगना की आवाज़ में कमी के कारन, कई संवाद दिल तक नहीं छू रहे. हालाँकि, जहाँ टेक्निकली आवाज़ को ठीक किया गया, जिससे कई सीन बेहतर लग रहे है.

ट्रेलर मै कई सीन्स में बैकग्राउंड म्यूजिक में कमी दिखी. एक ऐतिहासिक ड्रामा फिल्म में मुस्की बहुत महत्व रखता है, यह हम हाल ही में रिलीज़ हुई कई एतिहासिक फिल्मों को देख समझ चुके है. मगर सिर्फ ३ मिनट के ट्रेलर से हम ये अंदाज़ा नहीं लगा सकते की क्या फिल्म में भी कमी रहेगी या नहीं.

मरदानियों की फ़ौज

फिल्म में लक्ष्मीबाई के साथ, अंग्रेज़ों से लड़ने वाली फ़ौज, ‘मरदानियों’ की फ़ौज काफी एहम है. उन्होंने आज़ादी के लिए अपना सब न्योछावर कर दिया.

फिल्म में झलकारी बाई का किरदार, जो की कंगना के रॉल के बाद सब महत्वपूर्ण रॉल है, को अंकिता लोखंडे निभाएंगी. फिल्म में सुरेश ओबेरॉय, जिशु सेनगुप्ता, डैनी डेन्जोंपा, वैभव तत्ववादी और ताहेर शब्बीर भी है, जो कई महत्वपूर्ण किरदार निभा रहे है.

यह फिल्म  25 जनवरी को रिलीज़ होगी.

Email us at connect@shethepeople.tv