एक प्रगतिशील देश बनाने की दिशा में, दो ट्रांसजेंडर व्यक्ति देश के सबसे पुराने कॉलेजों में से एक में पढ़ाई करेंगे। सीएमएस कॉलेज में ग्रेजुएशन सिलेबस में शामिल होने के लिए कोट्टायम की अवंतिका और शाना नवस कॉलेज में भाग लेने वाले पहली ट्रांसजेंडर  होंगी । कॉलेज दो शताब्दियों से अधिक पुराना है और दोनों वहां से बीए कर रहे हैं।

अवंतिका ने सिविल सेवा परीक्षा को पास करने के लिए मेहनत कर रही हैं और इसकी तैयारी कर रही है। अभी वह एर्नाकुलम में अपने दोस्तों के साथ रह रही है। रहने के लिए, वह उम्मीद करती है कि सरकार जल्द ही कोट्टायम में ट्रांसजेंडर लोगो के लिए हॉस्टल शुरू करेगी।

अवंतिका ने कहा जब उन्होंने कड़ी मेहनत कर बारवी कक्षा 79 प्रतिशत अंको के साथ पास की । तो समाज यह नहीं चाहता है कि वह पढ़ाई में आगे बढ़े। यहाँ तक कि उनके परिवार ने भी उनका साथ छोड़ दिया और उन्हें अपना घर छोड़ना पड़ा। फिर उसे वित्तीय संकट से बचने के लिए बैंगलोर में एक हिजड़ा समूह के साथ रहना पड़ा। हालांकि, जब केरल राज्य सरकार ने कॉलेजों में प्रति कोर्स दो सीटों के लिए आदेश दिया, तो अवंतिका की पढ़ाई करने की इच्छा ने उसे वापस लौटने के लिए प्रोत्साहित किया।

दिलचस्प बात यह है कि वह अब सिविल सेवा परीक्षा पास करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं और इसके लिए तैयारी कर रही है। अभी वह एर्नाकुलम में अपने दोस्तों के साथ रह रही है। रहने  के लिए आगे, वह उम्मीद करती है कि सरकार जल्द ही कोट्टायम में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के लिए हॉस्टल शुरू करेगी ताकि वह वहां बस सके और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ सके। इसके अलावा, वह राजनीति में बहुत रुचि रखती है और सीपीआई की छात्र शाखा एआईएसएफ की सदस्य है। वह ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के लिए मान्यता प्राप्त करने के लिए कॉलेज के चुनावों में लड़ने के लिए भी उत्सुक है।

दूसरी ट्रांसजेंडर शाना ने भी अपना घर छोड़ दिया था और अभी  एर्नाकुलम में ज्योतिस भवन में रहती है। वह यह सोचती है कि कोई भी उनके लिए रहने की व्यवस्था करने को तैयार नहीं है और इसलिए, सरकार को ट्रांसजेंडर लोगो के लिए हॉस्टल  की स्थापना करनी चाहिए। वह, अवंतिका के विपरीत, एक एमएनसी की एचआर बनना चाहती है। हालाँकि, वह भी राजनीति में दिलचस्पी रखती हैं। “मैं कॉलेज में तीन साल का अच्छे से  लाभ उठाना चाहती हूं।

मैं कॉलेज के तीन साल का ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठाना चाहती हूं। कॉलेज को मुझसे फायदा होना चाहिए और कॉलेज से ।“

वे दोनों कॉलेज प्राधिकारियों का आभार प्रकट करती है , जिन्होंने उन्हें कॉलेज में एडमिशन दिया और इस बात का अच्छे से ख्याल रखा की उन्हें किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े।

Email us at connect@shethepeople.tv