हमारा देश एक पुरुष प्रधान समाज है , चाहे वह परिवार में हो या कार्यस्थल पर हर जगह औरतों को सहना पड़ता है। धीरे-धीरे बदलते समय , आंदोलनों और शिक्षा के  के साथ, महिलाएं अपने पैरो पर खड़ी हो रही हैं, नौकरी पा रही हैं, अपने सपनों को पूरा कर रही हैं और समाज में अपनी पहचान बना रही हैं। कोलकाता ने हमेशा इस तरह के आंदोलनों को बढ़ावा दिया है और आज के समय में, शहर में महिलाओं को कई नए काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। ऐसी ही एक कहानी है, रूपा चौधरी की, कोलकाता की पहली फूड डिलीवरी गर्ल, जिन्हे  फूड डिलीवरी ऐप, स्विगी के साथ काम पर रखा गया है ।

रूपा का संघर्ष

इस लड़की के लिए जीवन काफी कठिन रहा है। अपने माता-पिता और बहन की मृत्यु के बाद, वह अब एक असफल विवाह का सामना कर रही है। उनके पति अभी बारासात में रहते हैं जो कोलकाता से लगभग 30 किलोमीटर दूर है। उनका इकलौता बेटा उनके पति के साथ रहता है और उनके पति के साथ उनका तलाक अभी नहीं हुआ  है। इतनी कठिनाइयों के बावजूद, रूपा चौधरी ने कोलकाता में स्विगी में फ़ूड डिलीवरी बिज़नेस में प्रवेश करने वाली पहली महिला है । उनके अनुसार, यह बड़ा कदम कंपनी द्वारा कोलकाता से अधिक महिलाओं को रोजगार के लिए  प्रेरित करेगा।

डिलीवरी गर्ल का अनुभव

उनका रिज्यूमे काफी प्रभावशाली और अच्छा है। रूपा कोलकाता की पहली महिला भी थी जो फरवरी में ओला में बाइक टैक्सी सवार के रूप में शामिल हुईं थी । इसके अलावा, उन्होंने हाल ही में एक ड्राइवर के रूप में बाइक-टैक्सी ऐप रैपिडो में भी काम किया है। एक बाइकर के रूप में उनकी योग्यता और उनके आर्थिक जीवन को सुव्यवस्थित करने की इच्छा वास्तव में कोलकाता की अन्य महिलाओं के लिए एक प्रेरणा है जो अभी भी नौकरी करने के बारे में कंफ्यूज हैं। रूपा जैसी महिलाओं के साथ, जो अपने कार्य को ईमानदारी से करती हैं, हमारे शहर को वास्तव में ऐसी शक्तिशाली महिलाओं की ज़रूरत है!

Email us at connect@shethepeople.tv