अक्सर ये देखा जाता है कि एक अभिनेत्री की डेब्यू फिल्म या तो सराही जाती है या फ़्लॉप जाती है। 2018 मैं जहां नेपोटिसम जैसा टर्म आया वहाँ कई नए चेहरे आये अपने आप को साबित करने, ये साबित करने की वो एक अच्छे अभिनेता/अभिनेत्री है। जहान्वी कपूर , ईशान खट्टर,बनिता संधू जैसे कई लोगो नै बॉलीवुड में एन्ट्री की तो वही सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान ने केदारनाथ के साथ अपने बॉलीवुड सफर की शुरुआत की। कॉफी विद करन में सैफ अली खान ने कहा “सारा ने जब शिकागो मे ऐश्वर्या बच्चन को स्टेज पे नाचते हुए देखा, उसने कहा कि उसे यही करना था, ये ही उसकी दुनिया थी”

एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा “जब इस फ़िल्म की स्क्रिप्ट मुझे सुनाई गई में अपने आंसू नही रोक पायी। मुझे पता था कि मुझे ये फ़िल्म करनी ही थी”

सफर पे सफल होने की मेहनत

जाने माने और सफल एक्टर्स की बेटी जिसके माता और पिता ने बॉलीवुड में अपनी जगह बनाई और अपने आप को साबित किया पर कोलंबिया यूनिवर्सिटी से बॉलीवुड का सफर सारा के लिए आसान नही था। अपनी डेब्यू फिल्म पाने के लिए सारा के लिए सबसे बड़ी रुकावट उनका मोटापा था, कॉफ़ी शो में उन्होंने अपने पी.सी.ओ.डी के बारे मे खुल के बताया की कैसे वो इस समस्या से गुजर रही थी। उन्होंने अपने इस समस्या को कभी अपने सपनो के बीच कभी नही आने दिया । काफी महनत कर उन्हें जीत हासिल हुई और केदारनाथ उनके पास आई। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा “जब इस फ़िल्म की स्क्रिप्ट मुझे सुनाई गई में अपने आंसू नही रोक पायी। मुझे पता था कि मुझे ये फ़िल्म करनी ही थी”, मूवी देखने के बाद ये साफ होगया की क्यों उन्होंने ये फ़िल्म की। इस फ़िल्म को कर उन्होंने सबको ये बता दिया कि अपनी फिल्म चुनाव मैं वो बेझिझक और नीडर है । जब केदारनाथ की रिलीज पे रोक लगाया गया, उन्होंने अपने आप को संभाला और तभी उनके पास सिम्बा आयी तो उन्होंने अपने आप को इस फ़िल्म में व्यस्त किया। केदारनाथ के रिलीस के बाद मीडिया और ऑडिएंस ने फ़िल्म को बहुत सराहा।

सारा बचपन से ही एक अभिनेत्री बनना चाहती थी

केदारनाथ की सफलता

फ़िल्म एक ऐसे प्रेमी जोड़े पर आधारित है जिन्हें केदारनाथ की वादियों में प्रेम हो जाता है । दोनो अलग अलग धर्म के होते है जिसकी वजह से दोनों के परिवार वाले दोनों को अलग कर देते है । जब केदारनाथ पे कहर आता है तो सुशांत सिंह राजपूत सबको बचाते है और अंत में मर जाते है। इस फ़िल्म मे सारा की एक्टिंग को काफी पसंद किया गया है और फ़िल्म ने अब तक 80 करोर की कमाई कर ली है और बॉक्स ऑफिस पे हिट हुई।

अलग अलग किरदार निभाने की क्षमता

सारा की आने वाली फिल्म सिम्बा मे उनका किरदार एकदम अलग है जिससे पता लगता है कि वो अलग अलग फिल्मों में अलग अलग किरदार अच्छे से निभा सकती है और फ़िल्म के ज़रूरत के अनुसार अपने आप को ढाल सकती है। उनके लिए बस यह कह सकते है कि “मेहनत करने वालो की कभी हार नही होती, लहरो से डर कर नौका पार नही होती”, जी हां बॉलीवुड और ऑडिएंस ने सारा अली खान को पूरे दिल से अपनाया।

Email us at connect@shethepeople.tv