जैसा की हम सब जानते है की एशियाई गेम्स ज़ोरों से चल रहे है और भारत के खिलाड़ी भी ज़ोर -शोर से इसमें अपनी प्रतिभा दिखा रहे हैं । भारत से हरयाणा की शूटर मनु भाकर ने गोल्ड मैडल जीत भारत का नाम रोशन किया है । मनु भाकर ने मंगलवार को  14 वीं एशियाई चैम्पियनशिप में महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल हासिल किया। 17 वर्षीय मनु भाकर ने अपने इवेंट में गोल्ड मैडल जीतने के लिए 244.3 का स्कोर किया। हरियाणा की शूटर मनु बहकर ने पहले से ही मई में म्यूनिख विश्व कप में ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया था।

यशस्विनी सिंह देशवाल फाइनल में छठे स्थान पर रहीं। तीसरी भारतीय खिलाड़ी, अन्नु राज सिंह ने 20 वें स्थान के लिए 569 रन बनाए। भारतीय खिलाड़ियों ने  कोरिया और चीन को पीछे छोड़ते हुए कुल 1731 स्कोर  के साथ टीम के लिए ब्रोंज मैडल जीता।

एशियाई गेम्स में भारतीय पुरुष टीम से  दीपक ने स्कोर की एक सीरीज दर्ज करने के बाद लुसैल शूटिंग कॉम्प्लेक्स में तीसरे स्थान के लिए फाइनल में क्वालीफाई किया, जहा उन्होंने  103.1 104.8 104.6 105.0 105.6 105.6 103.7 स्कोर बनाया , जिससे उन्होंने 626.8 का कुल स्कोर हासिल किया ।

मनु भाकर का जीवन

मनु भाकर हरयाणा के झज्जर डिस्ट्रिक्ट के गोरिअ गाँव की रहनेवाली हैं । उनके पिता रामकृष्ण भाकर मर्चेंट नेवी में इंजीनियर है । मनु को बचपन से ही स्पोर्ट्स में बहुत रूचि थी । मनु के लिए उनके दादाजी स्पोर्ट्स में जाने के लिए सबसे बड़ी प्रेरणा थी । उनके दादा जी जाट रेजिमेंट में भारतीय आर्मी में जवान थे ।

शूटिंग की शुरुआत

मनु के पिता ने उन पर 150000  रुपये  के निवेश के साथ भाकर ने शूटिंग में जाने का निर्णय लिया। उन्होंने पहली बार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सफलता हासिल तब की जब उन्होंने 2017 एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में सिल्वर मैडल जीता। 2017 में केरल में आयोजित राष्ट्रीय खेलों में, भाकर ने नौ गोल्ड मैडल जीते और कई विश्व कप पदक विजेता हीना सिद्धू को हराया और फाइनल में 242.3 अंक प्राप्त करते हुए, सिद्धू के 240.8 अंकों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

2018 में अंतर्राष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन विश्व कप मेक्सिको के ग्वाडलाजारा में आयोजित किया गया। भाकर ने महिला 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड मैडल जीत उन्होंने दो बार की चैंपियन मैक्सिको की एलेजांद्रा ज़वाला को हराया। भाकर ने ज़वाला के खिलाफ 237.5 का अंतिम मैच जीता, जिसने 237.1 स्कोर किया। 16 साल की उम्र में गोल्ड मैडल जीतने के बाद, भाकर विश्व कप में गोल्ड मैडल जीतने वाली  सबसे कम उम्र के भारतीय बन गए।

भाकर ने 10 मीटर एयर पिस्टल के टीम इवेंट में विश्व कप में अपना दूसरा गोल्ड मैडल जीता। उन्हें साथी देशवासियों ओम प्रकाश मिथरवाल के साथ टीम में रखा गया था। इस जोड़ी ने सैंड्रा रिट्ज और क्रिश्चियन रेइट्ज को हराकर 476.1 अंकों का स्कोर बनाया, जिन्होंने 475.2 स्कोर किया।

 

 

Email us at connect@shethepeople.tv