मणिपुरी मुक्केबाज मैरी कॉम का अब केवल एक ही लक्ष्य हैं, टोक्यो 2020 ओलिंपिक जीतना! 36 वर्षीय बॉक्सर अपने खेल में शीर्ष पर बने रहने के लिए कड़ी ट्रेनिंग ले रही है, और हाल ही में उन्होंने रविवार को पांच ओलंपिक रिंगों के साथ एक टैटू बनवाया।

मैरी के साथ एक तस्वीर साझा करते हुए, प्रसिद्ध टैटू कलाकार मो नागा ने कहा, “पांच साल पहले, मैरी ने मुझसे टैटू बनवाने की इच्छा जताई थी और यह कल सच हो गया। कभी-कभी टैटू हमारे लिए तय करता है और यह ऐसा ही एक अनुभव था, ”ईस्ट्मोजो .कॉम  ने बताया।

ओलंपिक रिंग ओलंपिक एक्टिविटी का प्रतीक है जो पांच कॉन्टिनेंट के ओलंपिक खेलों में दुनिया भर के एथलीटों की बैठक का प्रतिनिधित्व करता है।

टोक्यो 2020 ओलंपिक्स

अब तक उन्होंने अपनी रिटायरमेंट योजनाओं के बारे में सोचा नहीं था, लेकिन अब तक छह बार की विश्व चैंपियन रह चुकी मैरी टोक्यो ओलंपिक में मैडल पाने के लिए बहुत मेहनत कर रही हैं और वह  टोक्यो ओलिंपिक में मैडल जीतने के बाद रिटायर हो जाएंगी ।

अपने 18 साल के लंबे शानदार करियर में, मैरी ने छह विश्व चैंपियनशिप, एक ओलंपिक ब्रोंज मैडल और पांच एशियाई चैंपियनशिप के खिताब जीते हैं । वह छह बार रिकॉर्ड के लिए विश्व एमेच्योर मुक्केबाजी चैंपियन बनने वाली एकमात्र महिला हैं, और सात विश्व चैंपियनशिप में से हर चैंपियनशिप में मैडल जीतने वाली एकलौती महिला मुक्केबाज हैं।

नई दिल्ली में हेडहंटर्स इंक चलाने वाले मो नागा ने कहा, “परंपरागत रूप से, टैटू संरक्षण और मजबूती के लिए किया जाता है। यह न केवल किसी की पहचान को चिह्नित करता है, बल्कि परिवर्तन का भी प्रतीक है। उसके टैटू उसे प्रेरित कर सकते हैं और एक बड़ा निर्धारण और परिवर्तन ला सकते हैं! ”

रिटायरमेंट की योजना

मैरी एक दिग्गज मुक्केबाज होने के साथ -साथ राज्यसभा सांसद भी हैं। “2020 के बाद, मैं रिटायर होना चाहती हूं। इसलिए मेरा मुख्य मिशन भारत के लिए गोल्ड मैडल हासिल करना है। इंडिया टुडे ने एक कार्यक्रम में कहा, मैं वास्तव में स्वर्ण पदक जीतना चाहती हूं।

2012 के लंदन ओलंपिक की ब्रोंज मैडल विजेता का लक्ष्य अब अपने पदक को सोने में बदलना है।

Email us at connect@shethepeople.tv