भारत ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को विदाई दी, उनकी बेटी बांसुरी स्वराज ने उनका अंतिम संस्कार लोधी श्मशान में किया। सुषमा ने राजनीती को एक नया नजरिया दिया था। अब उनके इस अचानक निधन ने पूरे देश को सदमे में छोड़ दिया है ।

भारत ने कल एक लोकप्रिय नेता और एक मज़बूत व्यक्तित्व वाली महिला को खो दिया । सुषमा स्वराज ने 6 अगस्त को नई दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस ली। 6 अगस्त को रात 10 बजे के करीब कार्डियक अरेस्ट के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। उनके निधन की खबर के तुरंत बाद, पूरा राष्ट्र शोक में चला गया।

67 साल की उम्र में, सुषमा जिन्होंने राजनीती को एक नया नजरिया दिया था उनके इस आकस्मिक निधन से पूरा देश शोक में है। राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया, जबकि उनकी बेटी ने उनका अंतिम संस्कार किया।

प्रिय सुषमा जी भारतवासी आपको हमेशा याद रखेंगे

उनके शव को लोधी श्मशान ले जाया गया, जहां पूरे भारत के राजनीतिक नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। वहां मौजूद प्रमुख नेताओं में भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी शामिल थे, जिन्होंने कहा, “वह मेरी बहन की तरह थीं, जिन्होंने मुझे हमेशा अन्ना’ (बड़े भाई) के रूप में संबोधित किया। वह लंबे समय से मेरे घर पर पारिवारिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में शामिल होती थीं। हर साल, रक्षा बंधन के अवसर पर, वह मेरे हाथ पर ‘राखी’ बाँधती थी। इस साल मै उन्हें बहुत याद करूँगा । मैंने उनके निधन में एक बहुमूल्य बहन को खो दिया है, जो मेरे लिए एक बहुत बड़ा दुःख है। ”

देश –विदेश से श्रद्धांजलियाँ

भूटान के पूर्व पीएम टीशेरिंग तोबगे और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी सुषमा जी की अंतिम यात्रा में शामिल हुए और सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर के आखरी दर्शन किये। न केवल भारत, बल्कि दुनिया के अन्य हिस्सों से भी सुषमा जी के लिए श्रद्धांजलियां आनी  शुरू हो गई जब से उनके निधन की खबर की पुष्टि हुई।

भारत में जापान के राजदूत केनजी हीरामत्सु ने कहा, “भारत के पूर्व ईएएम सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन के बारे में जानकर मुझे गहरा दुख हुआ है। जापान की सरकार और लोगों की ओर से, मैं उनके परिवार और भारत के लोगों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करना चाहता हूँ। ”

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “उनका असामयिक निधन केवल भाजपा के लिए ही नहीं, बल्कि राष्ट्रीय राजनीति के लिए भी बहुत बड़ा नुक्सान  है।”

बीजेपी के सीनियर नेता लालकृष्ण आडवाणी ने उन्हें महिलाओं के लिए एक रोल मॉडल कहा और याद दिलाया कि कैसे वह अपने जन्मदिन पर अपना  पसंदीदा चॉकलेट केक लाना नहीं भूलतीं।

वाकई सुषमा जी आप हर भारतवासी के दिल में हमेशा जीवित रहेंगी । आपका भारत देश और देशवासियों  के लिए स्नेह हमेशा हमे आपकी याद दिलाएगा ।

Email us at connect@shethepeople.tv