हम ऐसे समाज में रहते हैं जहाँ औरतों की आज़ादी पे पर्दा लगा है। महिलाओं को पुरषों के बिना मंदिर में न जाने से लेके वो सारे कारण जोकि रूढ़िवादी और तर्कहीन हैं, ये सब उन्हें आगे बढ़ने से रोकती हैं।

आईये पढ़ते हैं इन 6 जगाहों के बारे में

1. सऊदी अरब

क्या आपका कोई भाई है? क्या आप शादी शुदा हैं? अगर आप इनमें से एक भी नहीं हैं तो मुझे डर है कि आप सऊदी अरब के क्षेत्र में घुस पाएगी। इस देश ने ये ज़रूरी बना दिया कि महिलाओं के साथ पुरुष हो। अब ये नाइंसाफी है या नहीं आप सोचिए।

2. सबरीमाला मंदिर, केरल

अभी अभी ये मंदिर चर्चाओं में था ग़लत खबरों के लिए। एक परंपरा के अनुसार जिन महिलाओं को मानसिक धर्म होता है या हो रहा है, वो इस मंदिर में नहीं आ सकती। तो अगर आप 10 से 50 साल के बीच में आती है, आप देवी की पूजा करने के बारे में छोड़ दीजिए।

3. माउंट अथॉ,ग्रीस

रूढ़िवादी सोच की सीमत जगह यहाँ दिखती है जहाँ की औरतों का क्या बल्कि ऐसे जानवरो का आना भी प्रतिबद्ध है जो कि मादा हैं। इन लोगों का मानना है कि औरतों का दिखना भी इनकी शुद्धता और पवित्रता को अपवित्र करदेगा।

4. मुरिफील्ड गोल्ड क्लब,स्कॉटलैंड

खेल के क्षेत्र में औरतों पे प्रतिबंध लगाने के लिए मुरिफील्ड में महिलाओं के आने पे रोक लगा रखी है। उन्हें क्लब की भागीदार नहीं बनाया जाता। पिछले साल भी महिलाओं के समर्थन में कम वोट आये।

5. गैलेक्सी रुत्स्कीनपरदीसे वाटर पार्क, जर्मनी

ऐसा लग ही रहा था कि मंदिरों और गोल्फ खेलने पे रोक लगाने वाले रूढ़िवादी सोच रखने वाले लोग रुकेंगे की उन्होंने आराम करने के तरिकों पर भी प्रतिबंध लगा दिया। इस वाटर पार्क ने औरतों का अंदर आना इसलिए मना कर रखा है क्योंकि इनके अनुसार महिलाओं के कमज़ोर शरीर की वजह से इन्हें चोट लग सकती है।

डॉक्टरों के अनुसार ये सोच ग़लत है और इस से सिर्फ कुछ प्रेगनंट महिलाओं को नुकसान पहुँच सकता है।

6. माउंट ओमिनिए, जापान

मासिक धर्म की चर्चाएं सिर्फ भारत में ही नहीं अथवा जापान में भी है। माउंट ओमिनिए श्रद्धालुओं के लिए एक शुद्ध स्थान है और इसलिए उन महिलाओं के अंदर जाने से रोका जाता है जिन्हें मासिक धर्म होता है। वो जगह को अपवित्र बना देती हैं और उसकी शुद्धता भंग करदेती हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv