मणिपुर की 9 वर्षीय लड़की वैलेंटिना एलांगबाम को मुख्यमंत्री के ग्रीन मणिपुर मिशन के लिए ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया है। छोटे बच्चे को वायरल वीडियो में दो पेड़ों के कटने के बाद रोते हुए देखा गया था।

काकिंग जिले की वैलेनटीना, हियांगलाम वाबगाई में अमुटोबी डिवाइन लाइफ स्कूल की कक्षा 5 की छात्रा है। जब वह अपने इलाके में एक नदी के किनारे कक्षा 1 में थी तब उसने दो गुलमोहर के पेड़ लगाए थे। द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में कहा गया है कि नदी के किनारों से पेड़ साफ होने के बाद वैलेंटीना बहुत ही ज़्यादा परेशान हो गयी थी।

वैलेंटिना ने फेसबुक पर अपने चाचा द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में कहा, “जब मैंने वह पेड़ लगाए थे तब मुझे बहुत अच्छा लगा था पर जब उन पेड़ो को कटा गया तब मैं बहुत परेशान हुई ।”

वैलेंटाइना की मां शाया को इस बात की बहुत ख़ुशी है कि उनकी बेटी को सरकार ने सम्मानित किया है।

“हम अपनी बेटी को दिए जा रहे सम्मान के लिए सरकार के बहुत आभारी हैं। एक माँ के रूप में मुझे अपनी बेटी पर बहुत गर्व महसूस हो रहा है। मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मेरी बेटी में इतना गहरा जुनून होगा। मेरे परिवार ने प्रतिबद्ध किया है कि हम पूरी तरह से हर उपक्रम में उनका समर्थन करते हैं, ”शया ने कहा, द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट।

वेलेन्टीना, वास्तव में, कई सरकार द्वारा आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रमों के साथ जुडी हुई है, जिसमें विश्व पर्यावरण दिवस और वन महोत्सव शामिल हैं। वह मणिपुर में पर्यावरण को बनाए रखने के लिए सरकारी विज्ञापनों और अभियानों का भी हिस्सा होंगी।

कुछ दिनों पहले एक वीडियो में मणिपुर की 9 साल की बच्ची वेलेंटीना इलांगबाम को वायरल वीडियो में दो पेड़ों के काटने के बाद रोते हुए देखा गया था। वह उन पेड़ो के काटने पर रो रही थी जो उसने पहली कक्षा में लगाए थे । उसके पेड़ो के प्रति इस प्यार को देखते हुए  मणिपुर का ग्रीन एम्बेसडर बनाया गया ।

Email us at connect@shethepeople.tv