पिछले एक दशक में, भारत में उद्यमिता को केंद्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त हुई है और उसे बढ़ावा भी दिया गया है. इसने न केवल पूरे देश में उद्यमियों की संख्या को बढ़ाया है, बल्कि हमें सबसे विश्वसनीय स्टार्टअप भी दिए हैं जिनकी कमान महिलाओं के पास हैं. इनमें से बहुत से स्टार्टअप ने डिजिटल स्पेस में जन्म लिया है जिसने महिलाओं को पूर्वाग्रह से मुक्त जगह दी और अवसरों देकर महिलाओं की मदद की है. अब उन सभी के लिए जो व्यापारिक दुनिया में कदम रखना चाहते हैं, वे लोग जो वहां रहे हैं, ने कुछ सुझाव दिये हैं.
उद्यमियों के पांच विकास के सूत्र :

1. काम में पूरा ध्यान लगायें

पूर्व-गूगल की कर्मचारी और बहनें पूजा वर्मा और नेहा वर्मा, जिन्होंने चार साल पहले व्हिस्कर्स मार्केटिंग की स्थापना की थी, कहती हैं कि यह महत्वपूर्ण है कि आप अच्छी संख्या पाकर पीछए न चली जायें. “बैठना मुश्किल नहीं है, लेकिन जब आपकी बिक्री अच्छी होती है तब भी हम बैठे नही यही हमें आगे ले जाने में मदद कर रहा है.”

2. अपने विचार में विश्वास करो

होबमोब के संस्थापक रजवी नागोरी कहते है, “आपने आप पर विश्वास करें. जो आप करें उसपर आप का विश्वास होना चाहिये या नहीं?”. रजवी नागोरी ने देश में वयस्कों के लिए हाबी क्लासेंस की कमी की वजह से एक साधारण विचार के साथ अपनी फर्म की शुरूआत की.

“मैं लगातार अपने आप से पूछता हूं कि मैं जो मैं कर रहा हूं वह क्यों कर रहा हूं क्योंकि यह एक अच्छा विचार है या क्योंकि मेरे आस-पास के सभी लोग सोचते हैं कि यह एक अच्छा विचार है.” ऐसे कई चरण होते हैं जहां आप अपने विचार पर सवाल करते हैं या इसमें कम विश्वास रखते हैं, खासकर कई बार जब आप इसे अगले चरण में ले जाना चाहते हैं. और इस तरह आप अपने दिमाग पर विचार को और स्पष्ट करते हैं.

3. टीम मायने रखती है

फूशचिया स्किनकेयर की हरसिमरन कौर टीम भावना की ताकत में विश्वास करती हैं. उनके अनुसार, एक उद्यमी को स्टार्टअप में उतरने से पहले एक ठोस टीम बनाने की जरूरत होती है. यह क्षेत्र हमेशा विकसित होता है और बढ़ता जा रहा है. इसलिए एक उद्यमी के लिए ठोस आधार होना तभी मुमकिन हो सकता है जब उनके पास अच्छे सहकर्मी हों जो कंपनी की दृष्टि को समझें और इसे पूरा करने के लिए प्रयास करें.

4. दृढ़ता कुंजी है

कौर भी किसी भी व्यवसाय की सफलता के लिए प्रमुख रुप से दृढ़ता पर जोर देती है. जब तक आप लगातार संस्था को बनाने और नियमित रूप से इसमें नए और अनुकूल परिवर्तन लाने की दिशा में काम करते हैं, तो यह निश्चित रुप से एक संपन्न कंपनी में विकसित करने में मदद करेगा. “क्या आप उस विश्वास पर विश्वास करेंगे जो आप मानते हैं यदि आप अकेले है तो भी इस पर विश्वास करेंगे?”

5. अपने आप को समय दें

हालांकि स्टार्टअप बढ़ने के लिए दृढ़ता महत्वपूर्ण है, फिर भी खुद को समझने और विकास का विश्लेषण करने के लिए भी थोड़ा रुके यह बहुत आवश्यक है. एमी एरीबम, जिन्होंने अमारिया फैशन शुरू किया, जहां एक लेबल के तहत वह भारत की विभिन्न बुनकरों को ला रही है, का मानना है कि उन्होंने अपने कारोबार शुरू करने के पहले छह महीनों में खुद को पूरी तरह से धंधे में झोक दिया. जिसकी वजह से उनकी कोहनी फ्रैक्चर भी हुई क्योंकि वह ग्राहकों को जवाब दे रही थी सीढ़ियों से उतरते हुये. “शान्ति बनाये रखें. ध्यान से काम करें और खुद को काम से ज्यादा न थकायें. जो मैंने अपने अनुभव से सीखा है. समय के साथ मैंने सीखा है कि आपको काम से ब्रेक की आवश्यकता है ताकि आप नए विचारों पर ध्यान केंद्रित कर सकें और यह समझ सकें कि आप इसे कैसे आगे ले जा सकते है. “

Email us at connect@shethepeople.tv