सुंदर, रचनात्मक, मजाकिया, अप्रत्याशित, कठिन, विचारशील, कंगना रनौत के लिए यह सभी अद्भुत विशेषण हैं जिनके बारे में आप सोच सकते हैं। लेकिन सिर्फ एक बात उन्हें स्वीकार नहीं है, समाज की तकियानूसी सोच को मानना।

बॉलीवुड के रूढ़िवादी सोच और मिथ्यात्व को तोड़कर आगे बढ़ने वाली कंगना अनमोल मिथकों को लगातार चुनौतियों का सामना करना पड़ा  और अपने असाधारण कैंडर और अलग सोच के साथ एक अनोखी जगह से अपने विशेषाधिकारों को हासिल करना,और भी बहुत कुछ है जो हम  उनसे  से सीख सकते है जिन्होंने हिमाचल प्रदेश की पहाड़ियों में अपना घर छोड़ दिया था  बॉलीवुड में आपने मुकाम पाने के लिए ।

हम उन 10 महत्वपूर्ण जीवन पाठों पर ध्यान देते हैं जो उन्होंने सबके सामने प्रस्तत किये है  हैं।

  1. अपनी सहूलियत में सहज रहें।

चाहे वो एक किशोरी के रूप में मॉडलिंग करने के लिए स्कूल छोड़ना हो या  पारंपरिक साड़ी की जगह एक गाउन पहनकर अपना  राष्ट्रीय पुरस्कार लेना हो, अपने तरीके से दिल की बात कहने का बॉलीवुड आदी नहीं है या गर्व से कंगना का खुद को  बोहेमियन कहना , अपनी नियमो से जुड़ा हुआ होना और बोलूवाद का उनको मूडी ’बताना , ‘कंगना वह होने का ढोंग नहीं करती है जो वह नहीं है।

  1. आपकी इच्छा के विरुद्ध कोई भी आपको नुक्सान नहीं पहुंचा सकता है।

उसे सभी प्रकार की बदनामी और अलग अलग नामो के अधीन किया गया है लेकिन क्वीन स्टार अपने बारे में गलत  महसूस करने से साफ़ इनकार करती है।

‘अगर आपका एजेंडा मुझे शर्मसार करना है, तो ऐसा नहीं होगा,’ पूर्व बॉयफ्रेंड अधययन सुमन को मीडिया में कंगना के  खिलाफ डायट्री जारी करने के बाद कंगना ने  जवाब दिया।

  1. लोगो को अपने कटाक्ष और मुस्कुराहट के साथ जवाब दो ।

जैसा कि कंगना ने खुलासा किया की अगर, ‘मेरी बायोपिक में, कभी बनी, तो ग्लैमर-फ़िक्स्ड फिल्म निर्माताओं की एक एहम अभिव्यक्ति है, आप उस रूढ़िवादी बॉलीवुड किरदार को निभाएंगे, जो आप की तरह है – जो अन्य लोगों के लिए बहुत ही अलग और पूरी तरह से असहनीय और नेपोटिस्म को भादवा देती है, फिल्म माफिया। ‘

  1. यह आपका उच्चारण नहीं बल्कि आपके विचार हैं जो आपको परिभाषित करते हैं।

अपने कमज़ोर अंग्रेजी और उच्चारण के लिए, कंगना ने कभी उससे अपने आपको अपमानित महसूस नहीं करवाया।

रक्षात्मक होने के बजाय, उन्होंने भाषा सीखने के लिए काफी म्हणत की और अपनी बुद्धिमत्ता से यह साबित कर दिया कि आप क्या कहते हैं और उनके लिए भाषा का उच्चारण क्या मायने रखता है।

  1. कभी भी आप दूसरों की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए बाध्य महसूस न करें।

उनके माता-पिता चाहते थे कि वह डॉक्टर बने लेकिन कंगना का झुकाव एक्टिंग की ओर था। उनका अपने सपने का पालन करना उनके  परिवार के लिए उसे स्वीकार करना आसान नहीं था।

Email us at connect@shethepeople.tv