अब जबकि टी 20 महिला विश्व कप चल रहा है,  सुरभी वैद आपके लिये लायी है प्रतिभाशाली भारतीय खिलाड़ियों के बारे में कुछ दुर्लभ तथ्य.

हरमनप्रीत कौर

क्या आप जानते है, 2009 में इन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला मैच खेला और 2012 में इन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ कप्तान के रूप में अपना पहला टी -20 मैच भी खेला. महिला विश्व कप में कौर द्वारा 171 रन बनाए गए जो इस टूर्नामेंट के नॉकआउट चरण में अब तक का सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर है. वह पहली भारतीय क्रिकेटर, महिला या पुरुष बन गईं, जब सिडनी थंडर, जो एक महिला लीग (विदेशी टी 20 लीग) टीम ने उन्हें अपने खिलाड़ी के रूप में चुना. उन्हें 2016 में अपने पहले सत्र के लिए प्लेयर आफ द टूर्नामेंट पुरस्कार के लिये चुना गया.

स्मृति मंधाना

इस साल मार्च में इन्होंने 30 गेंदों में 50 रन बनाए, जो कि महिला टी 20 इंटरनेशनल में भारत की तरफ से सबसे तेज अर्धशतक था. स्मृति का परिवार उनकी सबसे बड़ी सहयोगी है, उनके पिता उनके क्रिकेट कार्यक्रम को निर्धारित करने में मदद करते हैं, वही उनकी मां उनके पोषण और कपड़ों का ख्याल रखती है और उनका भाई अभी भी उनको प्रेक्टिस करवाता है. वर्ष 2016 में महिला लीग के लिए हरमनप्रीत कौर के साथ स्मृति का भी सलेक्शन हुआ था लेकिन चोट के कारण उन्हें टूर्नामेंट से बाहर कर दिया गया था. उन्होंने एक बार कहा था कि वह अपना नाम अख़बार में देखना चाहती है और मानती थी कि क्रिकेट एकमात्र ऐसा खेल है जो उन्हें इस सपने को प्राप्त करने में मदद करेगा और इसलिए वह इसके प्रति समर्पित हो गई.

मिथाली राज

महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी और 6000 रनों को पार करने वाली एक मात्र खिलाड़ी,  उनके कई रिकॉर्डों में से एक है.

वही पहली भारतीय क्रिकेटर है जिन्होंने 2000 टी 20 रन बनायें. 2005 और 2015 में टीम की कप्तानी करने के साथ ही वह पहली भारतीय महिला टीम की कप्तान हो गई जिन्होंने 2 विश्व कप फाइनल में भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी की.  उन्होंने भारतीय महिला राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए कोच की भूमिका भी निभाई है. जल्द ही वायाकॉम 18 राज के जीवन पर एक फीचर फिल्म बनाने जा रहा है. वह पढ़ना पसंद करती है और एक प्रशिक्षित शास्त्रीय नर्तकी है.

जेमीमा रॉड्रिग्स

17 वर्षीय शिक्षा में उतनी ही अच्छी है जितनी वह दूसरें कामों में है. चक दे और हाजीम नो इप्पो (एनीम) उनकी पसंदीदा फिल्में हैं. जेमीमा क्रिकेट और हॉकी दोनों खेलना पसंद करती हैं और महाराष्ट्र यू -19 हॉकी टीम ने भी उन्हें चुना था. वह गिटार बजाना पसंद करती है और हमेशा उसे अपने साथ ले जाती है. श्रीमती मंडना के बाद 19 साल के क्रिकेट के तहत महिलाओं में दोहरा शतक लगाने के बाद वह दूसरी भारतीय महिला हैं.

वेदा कृष्णमूर्ति

परिवार में सबसे कम उम्र की, वेदा ने 12 साल की उम्र में डबल ब्लैक बेल्ट प्राप्त किया है. मिताली राज उनकी आइडियल हैं और जब उन्हें स्कूल में सम्मानित किया गया तो उन्होंने क्रिकेटर बनने का अपना सपना महसूस किया. उनके पिता एक केबल ऑपरेटर है.

अक्टूबर 2017 में, वह महिला लीग के लिए खेलने वाली तीसरी भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी बन गई. वह वन डे इंटरनेशनल में 1000 रन पूरा करने वाली सबसे छोटी भारतीय महिला क्रिकेटर भी हैं.

दीप्ति शर्मा

उन्होंने 17 साल की उम्र में वन डे इंटरनेशनल में करियर की शुरुआत की. जब वह 9 वर्ष की थीं तो वह अपने भाई के साथ प्रशिक्षण सत्र में जाया करती थी और उसी जगह पर उनके कोच को नज़र उन पर पड़ी. उन्हें पूर्व भारतीय क्रिकेटर और चयनकर्ता हेमलता कला द्वारा प्रशिक्षण दिया गया. उनका पसंदीदा क्रिकेटर सुरेश रैना है. उनके नाम वन डे इंटरनेशनल में 188 रन बनाने का रिकॉर्ड है, बेलिंडा क्लार्क के 229 रनों के बाद दूसरा सबसे ज्यादा स्कोर उन्ही का है.

तन्या भाटिया

उनका जर्सी नंबर 28 है जो उनकी जन्म तिथि भी है. उन्हें युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह ने प्रशिक्षित किया है जबकि वह डीएवी वरिष्ठ माध्यमिक हाई स्कूल में पढ़ाई कर रही थीं. वह चंडीगढ़ की पहली महिला क्रिकेटर हैं जिन्होंने राष्ट्रीय टीम में जगह बनाई. 13 साल की उम्र में वह पंजाब की टीम के लिए खेलने वाले सबसे कम उम्र के क्रिकेट खिलाड़ी बनी. उनके पिता क्रिकेट खेलते थे और अब सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के कर्मचारी हैं.

पूनम यादव

उनके पिता पूर्व सेना अधिकारी हैं. प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर अपने संदेश के माध्यम से उनकी गेंदबाजी की सराहना की है. उनके पिता ने उन्हें उनके कोच के आग्रह के बाद ही  क्रिकेट खेलने की अनुमति दी.

राधा यादव

उसके पिता एक सब्जी विक्रेता है. क्रिकेट के साथ वह अपने स्कूल में कबड्डी और खो-खो खेलती थी. उन्हें नहीं पता था कि महिलाएं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल खेलती हैं और शुरू में वह सोचा करती थी कि उन्हें लड़कों के साथ खेलना होगा.

अनुजा पाटिल

वह 2012 से भारत के लिए टी 20 इंटरनेशनल खेल रही है और अभी तक एक भी अंतरराष्ट्रीय टेस्ट या एक दिवसीय मैच नहीं खेला है.

एकता बिष्ट

उत्तराखंड राज्य से पहली अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेटर है. उनके पिता भारतीय सेना में हवलदार थे और परिवार की मदद के लिये सेवानिवृत्ति के बाद उन्होंने अपना खुद का चाय स्टाल शुरु किया.  शुरुआत में जब उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया तो वह लड़कों के साथ खेलती थी और लड़के की टीम में एकमात्र लड़की थी. बिष्ट ने श्रीलंका के खिलाफ आईसीसी विश्व महिला टी 20 में 2012 में एक हैट-ट्रिक की थी.

दयालान हेमलाथा

उन्होंने सीधे कॉलेज क्रिकेट के माध्यम से अपना रास्ता बनाया और भारत की ए टीम के लिए  खेला.

मानसी जोशी

उनका पसंदीदा क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर है. उनकी पसंदीदा फिल्म सचिन: बिलियन ड्रीम्स है. वह किशोर कुमार की प्रशंसक है और उनके गाने सुनना पसंद है. “आते जाते खूबसूरत आवारा गलियों में” उनकी मोबाइल टयून है,  जो कि राजेश खन्ना अभिनीत फिल्म ‘अनुरोध’ का एक गीत है.

पूजा वस्त्रकार

उन्हें टीम के साथी जूनियर हार्दिक पांड्य कहते है. मिताली राज ने उन्हें उपनाम ‘बब्बू’ दिया है और फील्डिंग कोच उन्हें ‘बाबूलाल’ कह कर पुकारते है. जब वह दस वर्ष की थी तो उन्होंने अपनी मां को खो दिया था. उनका पसंदीदा बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग है.

उन्हें लड़कों की अकादमी में श्रीवास्तव द्वारा प्रशिक्षित किया गया था, जिसे उस समय गुलमोहर क्रिकेट अकादमी के नाम से जाना जाता था.

अरुंधती रेड्डी

रेड्डी की मां, उनका सबसे बड़ी सहयोगी रही, जो कि वॉलीबॉल खिलाड़ी थी. वह भोजन के रूप में जंक फूड और चॉकलेट खाना पसंद करती है. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी शुरुआत करने से पहले ही मिताली राज के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया था.

Email us at connect@shethepeople.tv