कुछ दिन पहले 12 वी और 10 वी के नतीजे निकले, काफी सारे बच्चे अच्छे नंबर लेकर पास हुए और काफी बच्चो को कम नंबर लाने के कारण निराशा का सामना करना पड़ा ।पर  किसी भी बच्चे को उदास या निराश होने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि किसी भी तरीके से मार्क्स हमारी काबिलियत को साबित नहीं करते । हर बच्चा अलग होता है उसका इंटरेस्ट, उसका टैलेंट सब अलग होता है । किसी के भी परीक्षा के नंबर उस बच्चे का भविष्य नहीं बता सकते ।

मार्क्स ज़रूरी हैं, हाँ, लेकिन मार्क्स हमारी समझ नहीं हैं, व्यक्तित्व की निशानी नहीं हैं, काबिलियत नहीं है, ऐसा  बोझ नहीं हैं जिनके नीचे हम अपने बच्चों को दबा दे। 

जब मै 12 वी  कक्षा में थी और मैंने साइंस स्ट्रीम से पढाई की थी और मै अपनी बोर्ड की परीक्षा के  परिणाम के लिए बहुत ही परेशान थी । मुझे लगता था की अगर मुझे अच्छे मार्क्स नहीं मिले तो मै अपने जीवन में कुछ नहीं कर पाउंगी। पर ऐसा नहीं था मै अपने 12 वी में 75 % मार्क्स के साथ आज भी जीवन में खुश हूँ और जीवन में अपना मुकाम हाइल कर चुकी हूँ।

परीक्षा डर से नहीं धैर्य से पास की जाती है

जिन लोगों ने अच्छा स्कोर किया है, वे अच्छे कॉलेजों में प्रवेश करेंगे, उन्हें अच्छी शुरुआत मिलेगी। जिन्हें अच्छे नंबर नहीं मिले, तो  उन्हें थोड़ा संघर्ष करना पड़ेगा। परन्तु एक सच यह भी है कि मार्क्स आपके बच्चों की काबिलियत के बारे में कुछ नहीं कहते हैं। उनकी विचारधारा के बारें में भी कुछ नहीं कहते हैं.

Email us at connect@shethepeople.tv