तमाम राजनैतिक दलों ने 2019 के आम चुनाव के लिये तैयारी शुरु कर दी है. राजनैतिक दल अपने अपने तरीके से इस बात में लगे है कि आख़िर किस तरह से लोगों का दिल जीता जायें ताकि उन्हें वोटों में तब्दील किया जा सकें. हमने इस मामलें में महिलाओं से जानने की कोशिश कि आख़िर वह नई सरकार से क्या चाहती है.

सुरक्षा– महिलाओं के लिये सुरक्षा अब भी एक महत्वपूर्ण मुद्दा है. महिलायें चाहती है कि उन्हें आसानी से घूमने फिरने की आज़ादी मिलें. यह तभी मुमकिन है जब सरकार उन्हें सही तरह से सुरक्षा प्रदान करें. सुरक्षा चाहें लड़कियो की हो या फिर महिलायें की हो सभी को चाहिये. हर महिला सुरक्षित महसूस करना चाहती है. देश में महिलाओं के ख़िलाफ बढ़ते अपराधों ने हर किसी को चिंता में डाल दिया है और महिलाओं की नई सरकार से यही मांग करती है कि उन्हें सुरक्षा दी जायें.

शिक्षा– महिलाओं के लिये दूसरी सबसे बड़ी बात शिक्षा है. महिलाओं का कहना है कि उन्हें शिक्षा अगर मिलती है तो वह उनके साथ ही देश के लिये भी फायदेमंद है. शिक्षा से महिलाओं की जिंदगी बेहतर बन सकती है. बगैर शिक्षा के वह अपनी बात को बेहतर तरीके से नही रख सकती है. इसलिये वह चाहती है कि नई सरकार लड़कियों के लिये शिक्षा सुनिश्चित करें ताकि वह अपने पैरों पर खड़ी हो सकें.

रोजगार– वही महिलायें नई सरकार से चाहती है कि वह उनके लिये रोज़गार के अवसर उपलब्ध करायें. आज भी हम देख सकते है कि महिलाओं के लिये रोज़गार के अवसर बहुत कम है. कुछ ऐसी फिल्ड है जिसमें न के बराबर रोज़गार के अवसर है इसलिये यह जरुरी है कि सरकार उन्हें यह उपलब्ध करायें ताकि वह आगे बढ़ सकें.

महिला स्वास्थ्य– सरकार द्वारा स्वास्थ्य पर खर्च बरसों से कम है और अभी भी यह जारी है. महिलाओं में एनिमिया बड़े स्तर पर है जो की कुपोषण की वजह से होता है. ख़ासतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं की स्थिती बहुत ख़राब है. महिलायें चाहती है कि सरकार उनके स्वास्थ्य के बारे में सोचें और उन्हें वह सुविधायें उपलब्ध करायें जिससे उनका स्वास्थ्य बेहतर रह सकें.

शौचालय की सुविधा– हमारे देश में महिलाओं के लिये एक बड़ा मुद्दा शौचालय है. महिलाओं की एक बड़ी आबादी को यह सुविधायें उपलब्ध नही है. हालांकि पिछले कुछ वर्षों में सरकार ने इस पर काम किया है लेकिन उसके बावजूद अभी भी इसकी कमी महसूस की जा रही है. ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को जहां शौच के लिये बाहर जाना पड़ता है वही शहरी क्षेत्रों में महिलाओं के लिये हर जगह यह सुविधा उपलब्ध नही है. जरुरत इस बात की है कि सरकार हर जगह महिलाओं को शौचालय उपलब्ध करायें.

लोन की सुविधा– महिलाओं का एक तबक़ा अपना ख़ुद का छोटा मोटा कारोबार चाहता है लेकिन यह मुमकिन नही हो पाता है क्यों यह तो उन्हें लोन नही मिल पाता है या फिर अगर उनके लिये लोन सुविधा है भी तो बैंक उन्हें आसानी से लोन नही देती है. इसलिये यह जरुरी है कि सरकार यह सुनिश्चित करें कि महिलाओं को छोटे लोन आसानी से उपलब्ध हो जायें ताकि वह अपना ख़ुद का काम शुरु कर सकें.

भ्रष्टाचार से मुक्ति– वही महिलायें ये भी चाहती है कि नई सरकार भष्टाचारियों के ख़िलाफ कारवाई करें और भष्टाचार मुक्त समाज उपलब्ध करायें. महिलायें भष्टाचार से मुक्ति इसलिये चाहती है क्योंकि इसकी वजह से कई योजनायें होने के बावजूद उनका लाभ नही मिल पाता है. जो महिलायें पैसे देने की स्थिती में नही होती है तो उनके काम नही हो पाते है.

Email us at connect@shethepeople.tv