प्रियंका चोपड़ा ने हाल ही में खुलासा किया है कि उन्हें भी, एक समय पर यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा था। #मीटू आंदोलन में एक नया खुलासा करते हुए, वुमन इन वर्ल्ड समिट 2019 में प्रियंका ने कहा, “महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न एक आम सी बात बन गयी है।”

भारत में अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा शुरू किए गए आंदोलन पर आगे टिप्पणी करते हुए, प्रियंका ने कहा, “अब हम एक-दूसरे को समर्थन देने के कारण, लोगों को हमारी आवाज़ बंद करने की शक्ति नहीं है।” उन्होंने दावा किया कि अब महिलाएं आगे बाद रही है। इंडिया टूडे ने बताया कि डरने या शर्मिंदा होने के कारण उन्हें अपने साथ हो रहे अन्याय के लिए आवाज़ उठाने के लिए बहुत साहस का सामना करना पड़ता है ।

“हम सब के पास एक आवाज होती है पर कोई हमारी सुनता नहीं है। अब समर्थन के कारण हम एक-दूसरे की आवाज़ सुन रहे हैं, कोई भी हमारी आवाज़ बंद नहीं कर सकता है। और यह एक अविश्वसनीय रूप से शक्तिशाली चीज है। अब अगर मेरे पास मरे साथ हुए अन्याय के लिए बोलने के लिए हिम्मत है तो मुझे नहीं लगता कि मैं अब अकेली हूं – और मुझे इस पर शर्म नहीं है, ”अभिनेत्री ने कहा।

यह खुलासा करते हुए कि वह यौन उत्पीड़न की सर्वाइवर रह चुकी है, यूनिसेफ की गुडविल एम्बेसडर और प्रियंका चोपड़ा फाउंडेशन फॉर हेल्थ एंड एजुकेशन की संस्थापक, ने कहा, “इस कमरे में हर किसी ने शायद इस चीज़ का सामना किया है क्योंकि यह महिलाओं के साथ एक ज़बरदस्ती बन गयी है।”

भारत में #मीटू आंदोलन में इंडस्ट्री से कई बड़े नाम सामने आये है।

तनुश्री दत्ता की कहानी

अभिनेत्री तनुश्री दत्ता, जिनके खुलासे से बॉलीवुड में #मीटू आंदोलन को बढ़ावा मिला, उनके पास नाना पाटेकर के खिलाफ उत्पीड़न की शिकायत करने का मामला है। सूत्रों ने कहा कि उन्होंने पहले शिकायत की थी कि अभिनेता ने 2008 में हॉर्न ओके प्लीज के सेट पर उनका  यौन उत्पीड़न किया था। दत्ता ने पाटेकर, निर्माता समी सिद्दीकी, कोरियोग्राफर गणेश आचार्य और निर्देशक राकेश सारंग के खिलाफ शिकायत की थी।

विनीता नंदा की कहानी

अक्टूबर 2018 में, टीवी निर्माता-लेखक विनीता नंदा ने अभिनेता आलोक नाथ पर यौन उत्पीड़न और लगभग 20 साल पहले दो बार बलात्कार का आरोप लगाया, जब वे अपने टीवी शो, तारा की शूटिंग कर रहे थे। नंदा के आरोप पूरी इंडस्ट्री  को चौंकाने वाले था, आखिरकार, उन्होंने नाथ के खिलाफ एक आपराधिक मामला दर्ज किया। बाद में, हिमानी शिवपुरी और संध्या मृदुल सहित कई अन्य अभिनेत्रियों ने भी अनुभवी अभिनेता पर दुराचार का आरोप लगाया। नाथ ने हालांकि ऐसे सभी दावों को गलत ठहराया है।

हालिया रीविलेशन

हाल ही में, फातिमा सना शेख ने भी खुलासा किया कि उन्होंने बहुत समय पहले यौन उत्पीड़न का सामना किया था, इंटरनेशनल बिजनेस टाइम्स ने बताया।

“यह एक व्यक्तिगत अनुभव के बारे में था। मुझे लगता है कि लोगों ने #मी टू आंदोलन को गलत समझा है अगर वे इसे केवल फिल्म उद्योग तक सीमित रखते हैं। यह केवल फिल्म उद्योग में ही नहीं है, हर जगह है। हर काम मे है। जो मेरे साथ हुआ है, वो बहुत पहले हुआ है। ऐसा  नहीं है दंगल के समय हुआ है या उसके बाद । यह तब हुआ जब मैं बहुत छोटी थी। मुझे लगता है कि लोग यह मानते हैं कि यह अभी ही हुआ  है और सोच रहे है कि मैं इसके बारे में बात क्यों नहीं कर रही हूँ … यही हर कोई चाहता है । हमारे देश में हर महिला ने इसका सामना किया है और मुझे यकीन नहीं है कि हर कोई इसके बारे में खुलकर बात करना चाहता है, ”उन्होंने एक पब्लिकेशन को बताया कि उनसे यह पूछा गया कि क्या उनकी कहानी बॉलीवुड में कास्टिंग काउच से संबंधित है।

Email us at connect@shethepeople.tv