Period Cramps And Pain: पीरियड्स के दर्द से निपटने के 5 तरीके

Vaishali Garg
11 Jun 2022
Period Cramps And Pain: पीरियड्स के दर्द से निपटने के 5 तरीके

अधिकतर महिलाओं को पीरियड्स के दौरान पेट, पीठ के निचले हिस्से और जांघों के आसपास दर्द महसूस होना आम बात है।

पीरियड्स के दर्द को कम करने के लिए आज हम आपको 5 ऐसे उपाय बताएंगे जो बेहद असरदार और सुरक्षित हैं।

तो आइए जानते हैं कौन से हैं वो पांच उपाय:

1. व्यायाम करें

बहुत सारे शोधों के अनुसार यह पाया गया है कि जो महिलाएं रोजाना एक्सरसाइज करती हैं, उन्हें पीरियड्स के समय दर्द कम महसूस होता है। इसलिए यदि आप रोजाना एक्सरसाइज नहीं कर पा रहे हैं तो कम से कम हफ्ते में एक या दो दिन जरूर करें इससे आपको पीरियड्स के टाइम पर कम दर्द महसूस होगा।

2. हमेशा हाइड्रेटेड रहें

डिहाइड्रेशन क्रैंप्स को और ज्यादा बढ़ा देता है इसलिए महिलाओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे खूब पानी पिएं। हो सके तो गुनगुना पानी पिएं, इससे आपके पेट की मांसपेशियों की अकड़न को आराम मिलेगा और पीरियड्स के दौरान कम मात्रा में कैफीन और अल्कोहल का सेवन करें।

3. हेल्थी चीजों का सेवन करें

आपका आहार आपके मासिक धर्म के दर्द को बढ़ा या घटा सकता है।  इसलिए इन दिनों जितना हो सके हेल्दी खाएं।
कैल्शियम से भरपूर बीन्स, बादाम और हरी सब्जियों का अधिक सेवन करें। कई महिलाओं का मानना है कि यदि आप दिन में दो से तीन बार सौंफ़ खाते हैं तो आपको पीरियड्स के दर्द में काफी राहत मिलती है।

4. गर्म पानी की सिकाई

गर्मी का प्रयोग भी दर्द को कम करने में काफी मदद करता है।  इसलिए कुछ राहत पाने के लिए आप हीटिंग पैड, गर्म तौलिये या गर्म पानी की बोतल का उपयोग कर सकते हैं।  गर्म पानी से नहाने से भी मदद मिल सकती है।

5. ऑर्गेज्म

जी हां, आप मास्टरबेशन की मदद से अपने पीरियड्स के दर्द को कम कर सकती हैं और न ही इससे कोई नुकसान होता है। ऑर्गेज्म प्राकृतिक रसायन छोड़ते हैं, जैसे कि डोपामाइन और एंडोर्फिन, जो रक्तप्रवाह में प्रवेश करते हैं और संवेदनाओं को प्रेरित करते हैं जो आनंद को बढ़ाते हैं और दर्द से राहत देते हैं। तो अब आपको 10 तरह की दवाई लेने की जरूरत नहीं है।

पीरियड्स के दौरान कई महिलाओं को दर्द होना आम बात है मगर यदि दर्द जरूरत से ज्यादा हो, आप उसे सहन नहीं कर पा रहे हो तो एक बार अपने डॉक्टर को जरूर दिखा दें क्योंकि कई बार पीरियड का दर्द किसी बड़ी बीमारी का रुप भी ले सकता है।

अनुशंसित लेख