ब्लॉग

घर से काम करने वाले लोगों के लिए 6 सुझाव, ध्यान में रखने वाली कुछ बातें यह है

Published by
STP Team

घर से काम करना मजेदार हो सकता है. लोग अक्सर यह महसूस करते हैं कि इससे उन्हें बहुत खाली समय और मनोरंजन के लिये समय मिल जाता है. लेकिन अगर आप अपना समय सही तरह से मैनेज नही करते है और विशिष्ट कार्य दिशानिर्देश निर्धारित नही करते है तो आपके लिये दिक्क़त होगी. संभावना यह है कि आपको अधिक घंटे काम करना होगा और आप अधिक तनावग्रस्त महसूस करेंगे.

तो अगर आप इस तरह से काम करते है तो आप के ध्यान में रखने वाली कुछ बातें यह है:

1) कार्यक्रम की योजना बनाएं

अपने दैनिक कार्यक्रम की योजना बनाएं और उस पर ही अमल करें. उचित कामकाजी घंटे का नियम बनायें और व्यावहारिक रूप से उसका पालन करें. आपको लगता होगा कि घर से काम करने का मतलब यह होता है कि आप जब चाहें काम करें इसे अपनी आदत न बनायें. यह लंबे समय में आपके लिये नुकसानदायक साबित होगा. अपने शेड्यूल के हिसाब से काम करें और जब आप काम कर रहे हो तो कुछ भी न करें. और अपने निधार्रित समय से बाहर जाकर काम न करें.(जब तक वह आपातकालीन न हो).

2) एक जगह तय करें

आपको रोज़मर्रा की दिनचर्या के लिए अपने काम करने की जगह का चुनाव करना भी बहुत महत्वपूर्ण है. किसी ऐसे स्थान का चुनाव करें जिसे आप पसंद करते हैं या आरामदायक महसूस करते हैं. लेकिन स्पष्ट रूप से अपने कार्यक्षेत्र को परिभाषित करें और पेशेवर रूप से उसे करें.

3) रुटिन बनायें और ठीक से तैयार रहें

अगर आप अपने पैजामें में है तो यह अच्छा लगता है लेकिन यह आपको काम शुरू करने के लिए आवश्यक प्रेरणा नहीं देगा. आप अपना एक शेड्यूल बनायें जैसा की आप काम पर जाते वक़्त बनाते है. समय पर दैनिक काम को पूरा करें और अच्छी तरह से कपड़े पहने. इससे आपको प्रोफेशनल सा महसूस होगा और प्रेरणा भी मिलेंगी.

4) अपने काम को गंभीरता से लें

क्या आप वास्तव में काम करने में देर से जाएंगे यदि आपको पता हो कि आपके पास विशिष्ट कामकाजी घंटे हैं और कोई आप नज़र रख रहा है? घर से काम करने को गंभीरता से ले और ख़ुद अपने पर नज़र रखें. यदि आप अपने समय को गंभीरता से नहीं लेते हैं तो आपके आस-पास के लोग भी आपको गंभीरता से नही लेंगे. आप उन्हें बतायें कि जब आप काम पर हों तो आप को परेशान न किया जायें.

आप अपना एक शेड्यूल बनायें जैसा की आप काम पर जाते वक़्त बनाते है. समय पर दैनिक काम को पूरा करें और अच्छी तरह से कपड़े पहने. इससे आपको प्रोफेशनल सा महसूस होगा और प्रेरणा भी मिलेंगी.

5) एकरसता को तोड़े

अकेले काम करना थोड़ा नीरस हो सकता है. उसी नीरसता को ख़त्म करने के लिये आप कई बार कैफे जायें या फिर आप क्लाइंट के साथ मीटिंग कैसे रेस्टोरेंट में रखे. यह करना काफी महत्वपूर्ण है.

6) संचार बहुत महत्वपूर्ण है

सुनिश्चित करें कि दूर से काम करना कही ऐसा न हो कि बगैर संचार के काम करना बन जायें. सभी संचार ईमेल पर नहीं हो सकते हैं. कुछ संचार के लिये वॉइस कॉल और वीडियो कॉल का भी उपयोग करें. वही याद रखें कि अपने क्लाइंट और दूसरे सहकर्मियों से संबंध बनायें रखने के लिये कुछ समय में उनसे मिलें जरुर.

Recent Posts

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

35 mins ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

2 hours ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

2 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

4 hours ago

टोक्यो ओलंपिक : पीवी सिंधु सेमीफाइनल में ताई जू से हारी, अब ब्रॉन्ज़ मैडल पाने की करेगी कोशिश

ओलंपिक में भारत के लिए एक दुखद खबर है। भारतीय शटलर पीवी सिंधु ताई त्ज़ु-यिंग…

5 hours ago

वर्क और लाइफ बैलेंस कैसे करें? जाने रुटीन होना क्यों होता है जरुरी?

वर्क और लाइफ बैलेंस - बहुत बार ऐसा होता है जब हम अपने काम में…

5 hours ago

This website uses cookies.