ब्लॉग

लेखन मुझे जीवन की सच्चाई से परिचित करवाता है

Published by
Ayushi Jain

लिखना हम सब के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह एक जरिया है जो हमारी सोच को एक अनोखी दिशा देता है , हमे सोचने पर मजबूर करता है की हमारे आस- पास घट रही सभी घटनाओ का क्या महत्व है या हम अपने आस -पास हो रही हिंसा को कैसे रोक सकते है । लेखन एक ऐसी  प्रक्रिया है जो हमे सही और गलत का एहसास कराती है । हर जगह स्कूल कॉलेजों में जब भी कोई परीक्षा होती है तो वह लिखित रूप में होती है क्योंकि अब भी हम लिखते है वो हमारे दिमाग में काफी समय तक रहता है जबकि बोली हुई चीज़ हम जल्दी भूल जाते है।

लेखन मेरे लिए इन ५ कारणों से ज़रूरी है :

  1. लेखन मुझे जीवन की सच्चाई से परिचित करवाता है  ।

शब्द जाने अनजाने हमे बहुत कुछ सोचने पर मजबूर करते है।मेरे मन में उठ रहे अनगिनत प्रश्नो का उत्तर देता है जैसे – मेरे जीवन की सच्चाई, मै कौन हूँ? ,मेरा यह जीवन जीने का मकसद क्या है? काफी सारी उलझने जिनका हम जीवन में समाधान चाहते है वह सब मुझे लेखन से मिलते है , लेखन वह अभ्यास है जो मुझे सोचने पर मजबूर करता है , मेरी वर्तमान समय से पहचान करवाता है।

  1. प्रेरणास्तोत्र है लेखन

जब मै लिखती हूँ , मै कई बार सोचती हूँ की आज का विषय क्या हो सकता है ? आज मुझे ऐसी कोनसी नयी प्रेरणा या उत्साह मिलेगा जो मुझे मेरे अंदर की कल्पना और विचारो को शब्द प्रदान करेगा? और इन्ही प्रश्नों का उत्तर खोजते – खोजते मुझे मेरी मंज़िल मिल गई ।

  1. लेखन मानसिक विकास करता है

लेखन से मुझे बहुत सारा ज्ञान प्राप्त होता है। मेरे जीवन में समझ एवं सूज-भूज आई है और मेरा अनुभव बड़ा है। अलग अलग परिस्थितियों को देखने का मेरा नजरिया बदला है ।

   4.  सही – गलत का आभास करवाता है लेखन

जीवन में जब भी मुझे अनुकूल परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है तब मै सोचती हूँ लेखन के ज़रिये अपने अंदर जवाब ढूंढ़ती हूँ और सोचती हूँ क्या सही है और क्या गलत, लेखन मुझे परिस्थितियों और मुश्किलों को आसानी से समझने में मदद करता है सही – गलत का आभास करवाता है लेखन ।

  1. अकेलापन दूर करता है लेखन

जब भी हम अकेले होते है, किसी असमंजस में होते है तो हमे समझ नहीं आता की हम क्या करे, लेखन एक ऐसी चीज़ है जो आपको आपकी शख्सियत से अवगत कराती है, कलम और कागज़ इस दुनिया में सबसे अच्छे साथी होते है,वो ना ही कोई शिकायत करते है और नहीं कोई मांग। लेखन से मैंने बहुत कुछ अनुभव किया है।

लेखन हमारे जीवन का वो हिस्सा है जो हमे अपने विचारो और भावनाओ को सही तरीके से व्यक्त करने का मौका प्रदान करती है। यह बहुत ज़रूरी है की लेखन का महत्व हम समझे और इसे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाये । लेखन हमे संतुष्टि का आभास करता है और जीवन में खुश रहने का मौका देता है।

 

Recent Posts

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

48 mins ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

2 hours ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

2 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

4 hours ago

टोक्यो ओलंपिक : पीवी सिंधु सेमीफाइनल में ताई जू से हारी, अब ब्रॉन्ज़ मैडल पाने की करेगी कोशिश

ओलंपिक में भारत के लिए एक दुखद खबर है। भारतीय शटलर पीवी सिंधु ताई त्ज़ु-यिंग…

5 hours ago

वर्क और लाइफ बैलेंस कैसे करें? जाने रुटीन होना क्यों होता है जरुरी?

वर्क और लाइफ बैलेंस - बहुत बार ऐसा होता है जब हम अपने काम में…

5 hours ago

This website uses cookies.