ब्लॉग

सोशल मीडिया ने मुझे एक प्रोफेशनल होम-बेकर बनने में बहुत मदद की है – होम बेकर युक्ति मलिक

Published by
Ayushi Jain

“मैं अपने कस्टमर्स को कुछ ऐसा देने में विश्वास करती हूं, जिसे मैं खुद ग्राहक के रूप में पसंद करूँ। मैं यह सुनिश्चित करना चाहती हूं कि मैं कभी भी किसी ऐसी चीज न बनाऊं जो डिज़र्ट के नाम पर कस्टमर्स को अच्छी न लगे।” यह कहना है Home Baked By Yukti की ओनर युक्ति मलिक का. जिन्होंने अपने बेकिंग के शौंक को काफी आगे बढ़ाया और Home Baked By Yukti की शुरुआत की . युक्ति का सिग्नेचर स्टाइल ऑफ़ कुकिंग बेकिंग है . युक्ति होम बेक्ड बाए युक्ति में डिज़ाइनर केक्स और बेकरी आइटम्स बनाकर अपने कस्टमर्स को खिलाती है. हमने उनके होम बेकर बनने के सफर के बारें में बात करी

आपकी होम बेकर बनने का सफर कब और कैसे शुरू हुआ?

एक प्रोफेशनल होम बेकर के रूप में मेरा सफर एक साल पहले शुरू हुआ जब मैंने एक फुल टाइम करियर के रूप में अपने जुनून और बेकिंग के अपने पैशन को आगे बढ़ाने का फैसला किया। इससे पहले मैं अपनी किचन में ही प्रैक्टिस कर रही थी और जहाँ तक मुझे याद है, मेरे कॉलेज और कॉरपोरेट करियर के साथ-साथ पिछले 6-7 सालों से मैं बेकिंग कर रही थी। यह मेरी क्रिएटिविटी के निखरने का समय था जिसने मेरी इस सफर की शुरुआत की और मुझे एक फुल – टाइम  होम बेकर बनने का मौका दिया।

कोरोना वायरस और लॉकडाउन ने आपके काम को किस तरह प्रभावित किया है?

कोरोना वायरस और लॉकडाउन का हर व्यवसाय पर गंभीर प्रभाव पड़ा, जिसमें होम बेकर्स भी शामिल थे। पान्डेमिक के कारण, लोगों को अपने घर के बाहर से कुछ भी ऑर्डर करने की चिंता थी। परिस्थितियां ऐसी थीं कि मैं एक होम बेकर के रूप में अपनी मर्ज़ी से दो महीने तक कोई आर्डर नहीं लेती थी। मैंने अपने बिज़नेस की बजाय सुरक्षा को प्रायोरिटी दी।

इस तरह की स्थितियों के अलावा, अब भी जब मैंने आर्डर लेना शुरू किया है तो कुछ लोग अभी भी चिंतित हैं और इससे बच रहे हैं, लेकिन मेरे रेग्युलर कस्टमर्स, जो मुझ पर विश्वास रखते हैं, वह मुझे अपना व्यवसाय चालू रखने में मदद कर रहे हैं.

सोशल मीडिया ने मुझे एक अच्छी शुरुआत देने और एक प्रोफेशनल होम बेकर के रूप में अपने सफर को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। – युक्ति मलिक

इसके अलावा, यहां तक ​​कि रॉ मैटेरियल (raw material) और सामान की अवेलिबिलिटी और खरीददारी एक परेशानी है। कुछ बेसिक मैटेरियल हैं जो अभी भी अवेलेबल नहीं हैं और हम अल्टरनेटिव्ज (alternatives) के साथ काम करने के तरीके ढूंढ रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि हम एक नेशन के रूप में जल्द ही इस वायरस से निपटेंगे और चीजें नार्मल होने लगेंगी।

और पढ़ें: मिलिए उर्वशी यादव से – गुडगाँव की मशहूर छोले-कुलचे की रेडी चलाने वाली साहसी महिला से

पान्डेमिक के समय में लोग बाहर खाना बंद करके घर पर ही नयी डिशेस बना रहे है और अपने कुकिंग स्किल्स को आज़मा रहे है।  इसके बारे में आप क्या कहना चाहेंगी ?

हां, यह महामारी हमारे घर में होने और हर दूसरे दिन नए व्यंजनों / डिज़र्ट बनाने के बारे में थी। मेरे पास सेलेब्रेशन्स करने के लिए, केक बेकिंग में मदद के लिए लोग आये और मैंने खुशी-खुशी उनकी मदद की। यहां तक ​​कि अपने कस्टमर्स के साथ रेगुलर कांटेक्ट में रहने के लिए मैं विभिन्न व्यंजनों को ऑनलाइन शेयर करती थी और लॉकडाउन के दौरान उनके साथ जुडी हुई थी।

मुझे लगता है कि सभी डेसर्ट और व्यंजन जो लोगो ने खुद बनाने की कोशिश की हैं, किसी न किसी तरह से यह हमारे लिए फायदेमंद है। मुझे विश्वास है कि वे हमारे प्रयासों को अब और भी अधिक महत्व देंगे।

“मैं अपने कस्टमर्स को कुछ ऐसा देने में विश्वास करती हूं, जिसे मैं खुद ग्राहक के रूप में पसंद करूँ। मैं यह सुनिश्चित करना चाहती हूं कि मैं कभी भी किसी ऐसी चीज न बनाऊं जो डिज़र्ट के नाम पर कस्टमर्स को अच्छी न लगे।” – युक्ति मलिक

सोशल मीडिया का आपकी जर्नी में क्या रोल रहा है?

सोशल मीडिया ने मुझे एक अच्छी शुरुआत देने और एक प्रोफेशनल होम बेकर के रूप में अपने सफर को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इंस्टाग्राम और फेसबुक पर अपनी मौजूदगी के कारण होम बेकिंग हर दिन बढ़ रही है। मैं अलग – अलग माध्यम से अपने ऑनलाइन दर्शकों का निर्माण करके अपने क्लाइंट बेस को बनाने की लगातार कोशिश कर रही हूं- जैसे खाने की तस्वीरों, किचन एक्सपेरिमेंट्स, व्यंजनों और क्रिएटिव तकनीकों और डिज़र्ट की पिक्चर्स लगातार शेयर करना। मेरे ब्रांड के पेज के अलावा, फ़ेसबुक पर अलग-अलग ग्रुप्स  मेरे कस्टमर बेस बनाने में काफी हेल्पफुल हैं।

आपके अनुसार क्या कुकिंग का जेंडर से कोई लेना देना है ?

मुझे नहीं लगता कि खाना बनाना या किसी भी क्षेत्र का लिंग से कोई लेना देना है। दोनों ही पुरुषों और महिलाओं को कुकिंग इंडस्ट्री में महारत हासिल है। अंत में यह पूरी तरह से करियर बनाने के लिए किसी की पसंद और स्किल्स पर निर्भर करता है। मैं इतने सारे बेकर्स, पेस्ट्री शेफ और केक आर्टिस्ट के बारे में जानती हूं, जो अपने लिंग के बावजूद इंडस्ट्री को काफी स्मार्ट तरीके से आगे बढ़ा रहे हैं।

आपके काम को लेकर आपकी भविष्य की योजनाएं क्या हैं ?

मेरे दिमाग में इस बिज़नेस के लिए कुछ योजनाएं हैं। अभी के लिए मेरी योजना एक बड़े कस्टमर बेस तक पहुँचने और मेरी मिठाइयों के माध्यम से मिठास फैलाने की है। महामारी के कारण कुछ योजनाओं जैसे कि वर्कशॉप्स को मैनेज करने में देरी हुई है, लेकिन फिर भी ऐसा जल्द होगा। मैंने नए स्किल्स सीखने के लिए लॉकडाउन समय का पूरी तरह से उपयोग किया है।  मैं विभिन्न क्षेत्रों में सुधार लाने की कोशिश कर रही है।

और पढ़ें: मिलिए ऐतिकला’स किचन की संस्थापक श्रीमती विजया ऐतिकला से

Recent Posts

रानी रामपाल: कार्ट पुलर की बेटी ने भारत को ओलंपिक में एक ऐतिहासिक जीत दिलाई

भारतीय महिला हॉकी टीम ने सोमवार (2 अगस्त) को तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को…

8 hours ago

टोक्यो ओलंपिक: गुरजीत कौर कौन हैं ? यहां जानिए भारतीय महिला हॉकी टीम की इस पावर प्लेयर के बारे में

मैच के दूसरे क्वार्टर में गुरजीत कौर के एक गोल ने भारतीय महिला हॉकी टीम…

9 hours ago

मंदिरा बेदी ने कहा जब बेटी तारा हसने को बोले तो मना कैसे कर सकती हूँ?

मंदिरा ने वर्क आउट के बाद शॉर्ट्स और टॉप में फोटो शेयर की जिस में…

9 hours ago

क्रिस्टीना तिमानोव्सकाया कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

एथलीट ने वीडियो बनाया और इसे सोशल मीडिया पर साझा करते हुए कहा कि उस…

10 hours ago

लखनऊ कैब ड्राइवर मारपीट वीडियो : DCW प्रमुख स्वाति मालीवाल ने UP पुलिस से जांच की मांग की

लखनऊ कैब ड्राइवर मारपीट वीडियो मामले में दिल्ली महिला आयोग (DCW) की प्रमुख स्वाति मालीवाल…

10 hours ago

स्टडी में सामने आया कोरोना पेशेंट के आंसू से भी हो सकता है कोरोना

कोरोना की दूसरी लहर फिल्हाल थमी ही है और तीसरी लहर के आने को लेकर…

11 hours ago

This website uses cookies.