Commonly Heard Taunts: हमारे पड़ोसी आंटियों के 10 मशहूर ताने

Commonly Heard Taunts: हमारे पड़ोसी आंटियों के 10 मशहूर ताने Commonly Heard Taunts: हमारे पड़ोसी आंटियों के 10 मशहूर ताने

Monika Pundir

03 Jun 2022

Commonly Heard Taunts: प्राचीन भारतीय समाज में लड़कियों को सदैव प्रश्नों के उत्तर देने के लिए बाध्य समझा जाता था। अति पवित्र होने पर भी उनके चरित्र को अग्नि परीक्षाओं से गुजरना पड़ता था।

कई लोग सोचते हैं कि यह सब तब होता था तो वह गलत होगा क्योंकि आज भी यह होता है। हमसे बात बात पर प्रश्न पूछे जाते है जो प्रश्न कम ताने ज्यादा समझ आते हैं। आज हम ऐसे ही कुछ प्रश्न या कहें ताने के बारे में पड़ेंग-

1- "बेटा ये लडको को दोस्त क्यों बनाया है?"

जी हां यदि कोई लड़का किसी लड़की का दोस्त है तो उसे सिर्फ दोस्त नहीं समझते कुछ लोग। अरे! तुम लड़की हो लड़को के साथ क्यों रहती हो? शोभा नहीं देता। कहां गई अब जेंडर इक्वालिटी।

2- "छोटे कपड़े पहनोगे तो लोग तो देखेंगे ही ना"

आमतौर पर सबसे ज्यादा यही सुनने में आता है। इन लोगों को लगता है छोटे कपड़े पहनने के कारण ही लड़कियों के साथ शोषण होते हैं। पर सच यह है की साड़ी पहनने के बाद भी लड़कियां सेव नहीं है। 4  महीने की शिशु का भी रपे हुआ है। क्या एक बच्ची कपड़ो के बारे में सोचने की काबिलियत रखती है?

3- "अभी और कितना पढ़ना है तुम्हे"

एक बार स्कूल खत्म हुआ नहीं कि लोगों को शादी कराने की पड़ जाती है। यदि अपने घर में इतना इंटरेस्ट लेते तो शायद ये लोग भी समय के साथ चल पाते।

4- "अरे! अब लड़की जवान हो गई है"

जी हां सुनने में आम सा लगने वाला यह वाक्य आम नहीं है क्योंकि इससे कह कर यह बताया जाता है कि अब लड़की छोटे कपड़े नहीं पहन सकती, रात में घर से बाहर नहीं जाना चाहिए,  घर से ज्यादा दूर नहीं रहना चाहिए।

5- "अरे? अब शादी कब करोगी बुढ़ापे में"

यदि इन लोगों से कहा जाए अभी कॉलेज खत्म हुआ है आगे और पढ़ूंगी तो यह बताया जाएगा 27-28 तक तुम बूढ़ी हो जाओगी, अभी कर लो शादी फिर पढ़ते रहना। 18 साल होते नहीं कि बस यह शादी-शादी करने लगते हैं। वो तो शुक्र है सरकार जिसने 18 साल से बढ़ाकर 21 कर दी।

6- " घरवाले कुछ खाने नहीं देते क्या"

यदि लड़की पतली है तो उसे हर गली मोहल्ले में एक न एक आंटी से यह वाक्य जरूर सुनने को मिल जाएगा। बोलते तो ऐसे हैं जैसे यदि हम बोल देंगे घर पर नहीं मिलता तो आप दे दो, तो यह दे देंगे। 

7- "पतली हो जा, नहीं तो लड़का नहीं मिलेगा शादी को"

यहां भी वही हाल है जिसे अभी हमने ऊपर वाले वाक्य में देखा, हर गली मोहल्ले में सुनने को मिल जाएगा।

8- "घर में तो पैर रुकते ही नहीं इतना व्यस्त कहां रहती हो"

यदि आसपास के लोगों को मैं नजर नहीं आई तो पूछेंगे कि घर से कॉलेज, कॉलेज से कोचिंग के अलावा कहां जाती है जो घर में रहती ही नहीं। घर सामान रखने भर के लिए है क्या?

9- "बेटा ? खुशखबरी कब दे रही हो"

शादी के बाद 1 साल के अंदर-अंदर यह बात तो हर लड़की को बोली ही जाती है जैसे उसने शादी से बच्चा पैदा करने के लिए की।

10- "मां-बाप के यहां से कुछ तो सीखा होता"

लड़की कहीं भी जाए सब काम सही करें पर गलती से कुछ बिगड़ जाए तो यह सबसे प्रचलित है की मां ने नहीं सिखाया, पापा ने नहीं बताया।

अधिकतर यही समझ में आया है कि सारे ताने लड़कियों को पुरुषों की जगह महिलाओं से ही सुनने पढ़ते हैं, इसलिए एक कड़वा सत्य यह कि एक महिला ही एक महिला का शोषण कर रही है आज के समय। आपको बता दें कि मानसिक शोषण शारीरिक शोषण से ज्यादा खतरनाक होता है।

अनुशंसित लेख