कविदशील्ड वैक्सीन गैप बढ़ाया  – भारत में वैक्सीनेशन प्रक्रिया जोरो शोरों पर है। कोरोना से लड़ते लड़ते हमें एक साल से ऊपर होगया और हम सभी अपने घरों में बंद रहे हैं। आज पूरे एक साल बाद कोरोना की वैक्सीन बन पायी है और भारत बड़े पैमाने पर कोविद वैक्सीनेशन कार्यक्रम चला रहा है ताकि सभी को जल्दी जल्दी वैक्सीन मिले और सब वापस अपने काम में निष्फिक्र होकर लग पाएं । ऐसे में सरकार ने फैसला किया कि कविदशील्ड वैक्सीन की दोनों वैक्सीन के बीच का गैप जो कि पहले 28 दिन बढाकर 84 – 112 दिन कर दिया है। यानि कि 6 से 8 सप्ताह से बढाकर 12 से 16 सप्ताह हुआ।

एक्सपर्ट्स का कविदशील्ड वैक्सीन के डोज़ को लेकर क्या कहना है ?

एक्सपर्ट कहते हैं कि हर वैक्सीन की पहली और दूसरी वैक्सीन के डोज के बीच का फर्क अलग अलग है। जैसे की फाइजर वैक्सीन की दो खुराकों के बीच 21 दिन का गैप का सुझाव है। पर सभी वैक्सीन के बीच का गैप बीस के आस पास ही है। भारत में हमें जो वैक्सीन लगेगी उसके बीच 4 हफ्ते यानि 28 दिन का अंतर रखने को कहा गया था जो कि अब काफी बात चीत के बीच बढ़ा दिया गया है।

भारत में कौन कौन सी वैक्सीन तैयार हैं ?

वैक्सीन तो अलग अलग देशों में मिलकर बहुत सारी बनायीं गयी हैं पर भारत में सबसे पहले तो सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा विकसित कोविशिल्ड (Covishield) उसके बाद भारत बायोटेक लिमिटेड द्वारा विकसित कोवैक्सिन है। और ज्यादातर यही वैक्सीन भारत सर्कार द्वारा सबको लगायी जाएगी। खबर ये भी आयी है कि रशिअन वैक्सीन स्पुतनिक-वी भी अगले हफ्ते तक इंडिया के मार्किट में आजएगी और सभी स्टेट्स तक पंहुचा दी जाएगी।

वैक्सीन के लगने के बाद क्या सावधानी बरतें ?

वैक्सीन लगने के बाद आप ये ना सोचें की आपको वैक्सीन लग गयी है तो अब आपको इतिहाद बरतने की जरुरत नहीं है। वैक्सीन लगने के बाद भी आपको सामाजिक दूरी बनाकर रखना है , हाँथ धोते रहना है और मास्क पहन कर रखना है।

Email us at connect@shethepeople.tv