खुली हवा में साँस लेना हर इंसान का हक़ होता है पर क्या आप जानते है हम लोग जाने – अनजाने हवा को कितना गन्दा और प्रदूषित कर रहे है। भारत में ऐसे बहुत से शहर है जहाँ पर हवा की क्वालिटी आये दिन ख़राब होती जा रही है। यह बहुत ही गंभीर विषय है जिस पर हमे चिंता करनी चाहिए क्योंकि हवा हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है। इसके बिना हम ज़िंदा नहीं रह सकते । शुद्ध हवा में साँस न लेकर हम अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे है ।

image

आइये जानते है ऐसे 5 तरीके जिनसे वायु प्रदुषण हमारी सेहत को बर्बाद कर सकता है :

1. वायु प्रदूषण आत्महत्या है

हम यह सोचने के लिए मजबूर है कि वायु प्रदूषण आत्महत्या के रूप में गंभीर हो सकता है, लेकिन ताइवान, दक्षिण कोरिया, चीन में रिसर्च  के बाद यह सामने आया है की हवा को ख़राब करने के कारण हम अपने लिए आत्महत्या का कारण पैदा कर रहे है ।

साँस रोग और बहुत सारी खतरनाक बीमारियाँ होने का खतरा

आजकल की पीड़ी में बीमारियाँ होने का खतरा बहुत बढ़ गया है।आजकल बहुत सी खतरनाक बीमारियाँ जैसे की लंग कैंसर, अस्थमा और भी कई खतरनाक बीमारियों से हवा के प्रदुषण के कारण लोगो की जान का खतरा बढ़ गया है और तो और आजकल हवा के प्रदुषण का स्तर इतना बढ़ गया है की हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ गया है।

ओज़ोन लेयर में छेद हो रहा है

ओज़ोन लेयर सूरज की हानिकारक किरणों को हम तक पहुँचने से रोकती है । ओज़ोन लेयर कुदरत का सबसे बड़ा खज़ाना है हम लोगो के लिए पर इसे भी हम खुद ही वायु प्रदुषण को बढ़ावा देकर ख़त्म करते जा रहे है । अगर ओज़ोन लेयर ख़त्म हो गयी या किसी और तरह का नुकसान ओज़ोन लेयर को पहुँचाया गया तो मुसीबत हम पर ही आएगी ।

वायु प्रदूषण हमारे मानसिक तनाव का कारण है

साफ़ हवा हमारे दिमाग को शाँत रखती है। हमारे मन को नयी ऊर्जा प्रदान करता है । हमे रोज़मर्रा के काम करने के लिए नयी सोच और नए अनुभवों को अपने जीवन में जोड़ने के लिए नयी एनर्जी देता है ।

Email us at connect@shethepeople.tv