मेनोरेजिया एक मेडिकल कंडीशन है जिसका मतलब है पीरियड्स का अब्नॉर्मली हैवी और काफी दिनों तक होना। हालाँकि थोड़ा हैवी पीरियड्स नार्मल है लेकिन जब ये काफी लम्बे समय तक हो तो हम इसे मेनोरेजिया कहते हैं। ऐसे कंडीशन में आप नार्मल पीरियड्स की तरह अपना दिन नहीं गुज़र सकते क्योंकि आपको बहुत ज़्यादा क्रैम्प्स सफर करना पड़ता है। इसकी ट्रीटमेंट संभव है और आप उसके लिए अपने डॉक्टर्स से संपर्क कर सकती हैं। जानिए इसे मैनेज करने के ये 5 टिप्स:

1. मेंस्ट्रुअल कप का करें इस्तेमाल

मेंस्ट्रुअल कप एक प्रकार का सिलिकॉन कप होता है जो आप अपनी वजाइना में फिट कर सकती है। इसके बाद ये आपके वजाइनल कैनाल से पीरियड ब्लड को कैच करता है। ये पैड और टैम्पोन से ज़्यादा ब्लड अब्सॉर्ब कर सकता है इसलिए मेनोरेजिया में इसे यूज़ करने से आपको थोड़ी राहत मिल सकती है।

2. सोने के समय पीरियड पैंटीज पहनें

मेनोरेजिया के कारण आपको रात में जागना पड़ सकता है जो काफी फ़्रस्ट्रेटिंग हो सकता है। पीरियड पैंटीज एक प्रकार की पैंटीज है जिसे आप पीरियड ब्लड अब्सॉर्ब करने के लिए पहन सकती हैं। इसलिए आप अपने पीरियड्स के टाइम पीरियड पैंटीज पहन सकती हैं।

3. हीटिंग पैड का करें उपयोग

हीटिंग पैड्स आपको मेनोरेजिया के प्रमुख लक्षण क्रैम्प्स और पेन से बचा सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हीटिंग पैड्स आपके क्रम्पिंग मसल्स को रिलैक्स कर देते हैं। मेनोरेजिया को मैनेज करने के लिए ये बहुत ही अच्छा टूल है इसलिए इसका इस्तेमाल ज़रूर करें।

4. योग करें

मेनोरेजिया आपके शरीर में हुए हार्मोनल इम्बैलेंस के कारण होता है इसलिए ये आपके मानसिक स्वास्थ्य पे भी असर कर सकता है। मेनोरेजिया से गुज़र रही महिलाओं में स्ट्रेस लेवल वैसे भी बढ़ा हुआ पाया गया है। इसलिए ये बहुत ज़रूरी है की ऐसे में आप योग करें और अपने मन को शांत रखें।

5. रेस्ट लें

मेनोरेजिया के कारण शरीर से बहुत ब्लड लॉस हो जाता है। इस ब्लड लॉस को रिस्टोर करने के लिए हमारे शरीर को रेस्ट चाहिए। मेनोरेजिया जहाँ एक तरफ बहुत फ़्रस्ट्रेटिंग हो सकता है वहीं दूसरी तरफ आपको भरपूर रेस्ट लेने का मौका देता है। इसलिए जब समय मिले अपनी बॉडी को रेस्ट ज़रूर दें।

Email us at connect@shethepeople.tv