साल भर से कोरोना से लड़ने के बाद जब हमने सोचा कि अब कोरोना जा चुका है तभी कोरोना की दूसरी लहर आ गयी है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर और वैक्सीनेशन दोनों ही तेज़ी से चल रहे हैं। ऐसे में खुद को अपनों को सुरक्षित रखना बहुत जरुरी है। अब हमें अपने काम के लिए व रोज़मर्रा की चीजों के लिए बाहर तो निकलना ही पड़ेगा। जब हम अपने घरों से बाहर निकलेंगे तो कोरोना का खतरा भी बड़ जायेगा लेकिन इससे ज्यादा खतरा हमें नहीं बल्कि हमारे पेरेंट्स को और बच्चों को है। कोरोना वापस आ गया

1. बाहर जाने से बचें

कोरोना से अपने पेरेंट्स को बचाने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि उन्हें घर पर ही रहने दे क्योंकि आपके घर से सुरक्षित जगह कोई नहीं हो सकती है। घर के छोटे मोटे काम जैसे कि किराना लाना, सब्जी लाना, दूध लाना, दवाइयाँ लाना यह सब काम अगर हो सके तो आप खुद ही कर लें।

2. मास्क और सेनेटाइजर न छोड़ें

अगर आपके पेरेंट्स किसी वजह से बाहर भी जा रहे हैं तो उन्हें अच्छी क्वालिटी के मास्क व सेनेटाइजर दें। मास्क अगर अच्छी क्वालिटी का नहीं होगा तो उन्हें सांस लेने में दिक्कत होगी जिससे की वो अपना मास्क बार बार निकालेंगे जिससे की वायरस का खतरा बढ़ेगा और अगर सेनेटाइजर अच्छी क्वालिटी का नहीं होगा तो उन्हें स्किन इन्फेक्शन भी हो सकता है।

3. इम्युनिटी का ध्यान दें

कोरोना से लड़ने के लिए हमें अपने अंदर की इम्युनिटी को स्ट्रांग बनाने की बहुत जरूरत है। इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए फल व हरी सब्जियां भोजन में शामिल करें, काढ़ा पिलाएं, योग करवाएं, गरम पानी पिने की आदत डालें।

4. बाहर के सामान का ध्यान रखें

आप या आपके पेरेंट्स कोई भी चीज या सामान बाहर से लाएं तो उसे एक अलग जगह पर थोड़ी देर रखें फिर अच्छे से सेनेटाइज़ करने के बाद ही इस्तेमाल में लाएं । अगर मुमकिन हो तो एक दिन रखने के बाद ही इस्तेमाल में लाएं।

Email us at connect@shethepeople.tv