कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका अगर अच्छे से ट्रीटमेंट ना किया जाए तो यह और भी ज्यादा खतरनाक हो सकती है। कोरोना के समय में कैंसर के मरीजों पर कई प्रकार से प्रभाव पड़ रहा है। तो आइए जानते हैं कोरोनाकाल में कैंसर मरीज़ पर प्रभाव

कोरोनाकाल में कैंसर पर प्रभाव :

1. कोरोना और कैंसर

हम सभी जानते हैं कोरोना काल में हॉस्पिटल और स्वास्थ्य से जुड़ा सारा इंफ्रास्ट्रक्चर अभी कोरोना से लड़ने में ही व्यस्त है। कोरोना की दूसरी लहर में ना सिर्फ बुजुर्ग लोग बल्कि बच्चे और जवान लोग भी प्रभावित हो रहे हैं।

ऐसे में कैंसर के मरीज को भी सबसे ज्यादा खतरा है। कोरोना के कारण प्रिवेंशन प्रोटोकॉल के चलते कैंसर पेशेंट्स के स्वास्थ्य की मैनेजमेंट पर भी काफी असर पड़ा है।

ऐसे में साधारण लोग और डॉक्टर कैंसर के मरीजों को करोना काल में स्वस्थ रखने की चिंता में हैं।

2. कैंसर मैनेजमेंट पर कोरोना का असर

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका अगर सही से ट्रीटमेंट नहीं किया गया तो वह और भी खतरनाक हो सकती है। ऐसे में कोरोना के कारण कैंसर की मैनेजमेंट पर बहुत ज्यादा फर्क पड़ रहा है।

ऐसे में कैंसर के मरीज को अगर कोरोना हो जाए तो समस्या और भी ज्यादा बढ़ जाती है। कैंसर के मरीज को करोना होने से उसकी इम्यूनिटी पर बहुत ज्यादा फर्क पड़ने लगता है।

3. स्वास्थ्य कर्मचारी और स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर पर  कोरोना का प्रभाव

कोरोना के समय में न सिर्फ आम लोगों पर बल्कि स्वास्थ्य कर्मचारी और स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर भी प्रभावित हुआ है जिस कारण कैंसर और अन्य  बीमारियों का ढंग से इलाज होने में समस्या आ रही है।

4. भविष्य के लिए precautions

सबसे पहले तो में बात जान देनी चाहिए कि कोरोना जल्द खत्म होने वाला नहीं है इसलिए हमें इससे बचाव के साथ-साथ अपनी बाकी नॉरमल रूटीन को भी बरकरार रखना होगा।

कोरोनाकाल में कैंसर और इसके जैसी और बीमारियां लोगों के लिए समस्या खड़ी कर सकती हैं इसलिए कोशिश करें कि आप घर में ही रहें और बहुत जरूरी काम से ही बाहर जाएं।

Email us at connect@shethepeople.tv