नया साल आते ही सबको त्योंहारों का इंतजार बड़ी बेसब्री से रहता है। इस बेसब्री को खत्म करने में साल का पहला त्योहार ‘लोहड़ी’ काफी अहम रोल निभाता है। उत्तर भारत में इसका जोश और रंग काफी दिखता है। इसे खास तौर पर पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में मकर संक्रांति की पूर्व शाम पर नई फसल के त्योहार के रूप में मनाया जाता है। आइयें और भी कई कारण जानते हैं कि लोहड़ी क्यों मनाते हैं?

लोहड़ी की रात खुली जगह पर आग जलाई जाती है। लोग लोकगीत गाते हुए नए धान के लावे के साथ खील, मक्का, गुड़, रेवड़ी, मूंगफली आदि उस आग में डालते हैं और उसके चारों तरफ चक्कर लगाते हैं। कर परिक्रमा करते हैं।

लोहड़ी मनाने वाले किसान इस दिन को अपने लिए नए साल की शुरुआत मानते हैं। किसान इस मौके पर फसल की पूजा भी करते हैं। गन्ने की कटाई के बाद उससे बने गुड़ को इस त्योहार में इस्तेमाल किया जाता है।

1. लोहड़ी क्यों मनाते हैं? (lohri kyon manate hain?)-

  • पंजाब में लोहड़ी का त्योहार दुल्ला भट्टी से जोड़कर मनाया जाता है। मुगल शासक अकबर के समय में दुल्ला भट्टी पंजाब में गरीबों के मददगार माने जाते थे। उस समय लड़कियों को गुलामी के लिए अमीरों को बेच दिया जाता था। कहा जाता है कि दुल्ला भट्टी ने ऐसी बहुत सी लड़कियों को मुक्त कराया और उनकी फिर शादी कराई।
  • इस त्योहार के पीछे धार्मिक आस्थाएं भी जुड़ी हुई हैं। लोहड़ी पर आग जलाने को लेकर मान्यता है कि यह आग राजा दक्ष की पुत्री सती की याद में जलाई जाती है।
  • बहुत से लोगों का मानना है कि लोहड़ी का नाम संत कबीर की पत्नी लोही के नाम पर पड़ा. पंजाब के कुछ ग्रामीण इलाकों में इसे लोई भी कहा जाता है।
  • लोहड़ी को पहले कई जगहों पर लोह भी बोला जाता था। लोह का मतलब होता है लोहा। इसे त्योहार से जोड़ने के पीछे बताया जाता है कि फसल कटने के बाद उससे मिले अनाज की रोटियां तवे पर सेकी जाती हैं। तवा लोहे का होता है। इस तरह फसल के उत्सव के रूप में मनाई जाने वाली लोहड़ी का नाम लोहे से पड़ा।
  • कई जगहों पर लोहड़ी को तिलोड़ी के तौर पर भी जाना जाता था। यह शब्द तिल और रोड़ी यानी गुड़ से मिलकर बना है। बाद में तिलोड़ी को ही लोहड़ी कहा जाने लगा।

2.आइयें जानते हैं ऐसे स्वादिष्ट खानें जिन्हें लोहड़ी वाले दिन बनाना तो बनता ही है –

इस शानदार त्योंहार को आप कई तरह के स्वादिष्ट खानों से और भी ज्यादा शानदार बना सकती हैं। अगर आप कंफ्यूज़ हैं कि आपको क्या बनाना चाहिए तो हम आपकी मदद करते हैं।

  • सरसों का साग और मक्कीरोटी की

सरसों का साग और मक्की की रोटी पॉपुलर पंजाबी डिश है। यह एक ऐसी क्लासिक डिश है जिसे हर कोई बहुत स्वाद से खाता है। सरसों के साग में ढेर सारा घी और मक्खन डालकर खाने से इसका स्वाद और भी बढ़ जाता है।

  • मूंगफली की चिक्की

गुड़ और ढेर सारी मूंगफली डालकर तैयार की गई यह चिक्की खाने में बहुत टेस्टी लगती है। इसे बनाना भी बहुत ही आसान है।

  • पिंडी छोले

उबले हुए छोले को ढेर सारे खुशबूदार मसालें डालकर बनाया जाता है। अगर आप भी फटाफट कुछ स्पेशल बनाना चाहते हैं तो यह बेस्ट ऑप्शन है।

  • गुड़ की रोटी

गुड़ को पंजाबी खाने में काफी अहम माना जाता है खासतौर पर किसी खास मौके या त्योहार के दिन। ऐसे ही भारतीय व्यंजन में खूब पसंद की जाती है गुड़ की रोटी जिसे गेंहू के आटे दूध और गुड़ से तैयार किया जाता है।

  • मुरमुरा लड्डू

मुरमुरा लड्डू बनाने में बेहद ही आसान है जिसे गुड़ और मुरमुरे से तैयार किया जाता है। ये खाने में बहुत हल्के और लो फैट वाले होते हैं। यह स्वादिष्ट लड्डू आमतौर पर त्योहार के मौके पर बनाया जाता है।

पढ़िए – जानिये क्यों मनाया जाता है मासिक शिवरात्रि का त्योहार और क्या है इसका महत्व ?

Email us at connect@shethepeople.tv