एक महिला के शरीर में ज़िंदगी के हर पड़ाव पर बदलाव आते हैं जैसे पीरियड्स का आना, प्रेग्नैंसी, सेक्स लाइफ और फिर मेनोपॉज। मेनोपॉज की उम्र मुख्य तर औरतों में औसतन रूप से 51 पाई जाती है पर शराब या स्मोकिंग की लत के कारण ये उम्र घट भी सकती है। मेनोपॉज से जुड़ी ज़रूरी बातें जानिए –

1. वज़न में बदलाव

शरीर में ज्यादा हॉर्मोनाल बदलाव के कारण आप का वज़न बढ़ सकता है। साथ ही उम्र के साथ वज़न भी बढ़ता चला जाता है।

2. दिल की बीमारी

एस्ट्रोजन की कमी से आपकी फ्लेक्सिब्ल धमनियां तो परेशानियों से बची रहेंगी पर इससे ब्लड फ्लो पर प्रभाव पड़ेगा, जिससे दिल की हालत बिगड़ सकती है।

3. कैल्शियम की कमी

मेनोपॉज के बाद शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा बहुत कम हो जाती है जिससे आपकी हड्डियों में कमज़ोरी आ सकती है।

4. मेनोपॉज के लक्षण

याद रखें, ये ज़रूरी नहीं कि आप भी उन्हीं लक्षणों का सामना करें जो आपके घर की बाकी मेनोपॉज से गुजरी औरतों ने किये।

  • हड्डियों में कमज़ोरी –  एस्ट्रोजन् की कमी से हड्डियों में कमजोरी का सामना करना पड़ेगा।
  • हॉट फ्लैश – menopause के बाद शरीर में हॉट स्प्लेश का सामना भी करना पड़ेगा।
  • मूड में बदलाव – आपको मूड स्विंग्स भी बहुत होंगे।
  • जोड़ों में दर्द – जोड़ों में दर्द और शरीर में हद से ज्यादा थकावट महसूस होगी।

5. मेनोपॉज के बाद की समस्याओं का हल

  • कैल्शियम ज्यादा लें – menopause के बाद shareer
  • दिल का ध्यान रखें  – menopause के बाद आपको दिल की परेशानियों का खतरा बढ़ सकता है इसलिए अच्छी डाइट लें।
  • हार्मोन थेरेपी लें – आप चाहें तो हॉट स्प्लेश से बचने के लिए हार्मोन थेरेपी ले सकती हैं पर ये थेरेपी लेने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करें।
  • व्यायाम करें – मोटापे, शरीर में दर्द व कमज़ोरी से बचनेके लिए अच्छी डाइट लें व व्यायाम करें।

तो ये थीं मेनोपॉज से जुड़ी ज़रूरी बातें  | मेनोपॉज से आप बच नहीं सकते पर इसके असर आपके शरीर पर कम प्रभाव डालें उसके लिए आप अपना अच्छे से ख्याल रखें।

 

Email us at connect@shethepeople.tv