टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

5 बातें जो मैंने इस लॉकडाउन में सीखी हैं - लॉकडाउन में मिली सीख

5 बातें जो मैंने इस लॉकडाउन में सीखी हैं - लॉकडाउन में मिली सीख
SheThePeople Team

05 May 2021

लॉकडाउन में मिली सीख - इस लॉकडाउन ने मुझे बहुत सीख दी ।  पिछले साल से ही पुरे विश्व में कोरोना महामारी के कारण कई तरह के प्रबंध किये गए जिनमें से सबसे प्रमुख उपाय बना लॉकडाउन । इस लॉकडाउन के तहत हमारे देश में भी लोगों को अपने-अपने घरों में बैठने की और आवश्यक काम के लिए ही बाहर निकलने की सलाह दी गयी । युवा वर्ग को इसके शुरुवाती दिनों में यह लॉकडाउन जहाँ अपनी अभिव्यक्ति और आज़ादी में आने वाला सबसे अर्चन दिख रहा था, वहीँ जैसे जैसे वक़्त गुज़रता गया इस लॉकडाउन ने हमें बहुत कुछ सीखा भी दिया । इनमें से जो प्रमुख चीज़ें मैंने सीखीं वो हैं :

1. सबसे इम्पोर्टेन्ट है परिवार


परिवार से बड़ी किसी भी इंसान के पास कोई जमा पूंजी नहीं होती । संकट की इस घड़ी में जब हम अपने अपने घरों में थे तब हमारा सबसे सुखद समय अपने परिवार के सानिध्य में ही गुज़रा । मुझे ये भी समझ में आ गया कि चाहे हम दुनिया के किसी भी शहर में क्यों न निवास करे, हमारे घर जैसी सुरक्षा हमें कहीं नहीं मिलेगी ।

2. आर्थिक आज़ादी - लॉकडाउन में मिली सीख


जहाँ आस पास बहुत लोगों ने इस महामारी में अपनी नौकरियाँ गवाई वहीँ ये लॉकडाउन कई घरेलु व्यापार के जन्म का कारण भी बना । इन सब से मैंने ये सीखा कि युवावस्था में ही आर्थिक आज़ादी की तरफ अपना पहला कदम बढ़ाना सबसे आवश्यक है ।

3. शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य


इस लॉकडाउन में मैंने बहुत लोगों कि तरह समय निकाल कर अपने शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान दिया और अपने आप को खुद से बेहतर बनाने की कोशिश में लगी रहीं तो मैंने ये सीख पायी कि जीवन में इनसे महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं ।

4. समय का सही इस्तेमाल


मुझे ये भी एहसास हुआ कि अगर हम अपने समय का सही और भर पूर इस्तेमाल करे तो दिन के 24 घंटे काफ़ी होते हैं और हमारी हमेशा की वक़्त न होने कि शिकायत ख़त्म हो सकती है । इस लॉकडाउन में आपमें समय का सही इस्तेमाल करते हुए बहुत नयी तरह की स्किल्स सीखी जा सकती थी।

5. नए स्किल्स कभी भी सीखे जा सकते हैं


लॉकडाउन में मैंने फिर से बागवानी करने की शुरुवात की और इससे मैंने ये सीखा कि कोई भी नए स्किल सीखने कि कोई निर्धारित उम्र नहीं होती।  इसलिए इंसान को सीखने कि लालसा कभी नहीं छोड़नी चाहिए ।
अनुशंसित लेख