वजाइना का पीएच बदलने से कई प्रकार की परेशानियां हो सकती हैं। वजाइना का पीएच आसपास के पर्यावरण और बाकी चीजों से भी बदलता है। तो यह जानते हैं वजाइना का pH बैलेंस रखने के लिए प्राकृतिक रूप से क्या किया जा सकता है-

वजाइना pH बैलेंस कैसे रखें –

1. बोरिक एसिड

बोरिक एसिड बहुत ही आसानी से मिलने वाला और वेजाइना के पीएच को जल्दी से बैलेंस करने वाला तरीका है।

अगर आपके पीएच के सिम्टम्स हल्के हैं तो आप बोरिक एसिड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. अपनी डाइट में ज्यादा प्रोबायोटिक्स मिलाएं।

आप अपनी डाइट में अच्छा बैक्टीरिया लेक्टोबेसिल मिला सकते हैं। लेक्टोबेसिल वेजइना की हेल्थ के लिए बहुत अच्छा होता है साथ ही यह वजाइना को इंफेक्शन से भी बचाता है।

आप अपने डाइट में lactobacili इन तरीकों से ले सकते हैं-

  • गोलियों के द्वारा
  • Yogurt, केफिर, किमची इत्यादि के द्वारा
  • Intravaginally

3. गार्लिक टैबलेट लें

गार्लिक टेबलेट में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जोकि बैक्टीरिया से लड़ने में सक्षम होते हैं।

पर ध्यान रखें कि गार्लिक के पाचन तंत्र पर अलग से साइड इफेक्ट हो सकते हैं। साथ ही ब्लड thinner लेने वाले लोग इसे ज्यादा मात्रा में ना लें।

4. खुद को stress-free रखें

स्ट्रेस फ्री आपके वजाइना के पीएच को कम करने में एक बड़ा रोल निभाता है। इसलिए आप खुद को स्ट्रेस फ्री रखने की कोशिश करें

  • एक्सरसाइज करें
  • गहरी सांसे ले
  • अपनी मनपसंद एक्टिविटीज करें
  • अच्छे गाने सुनें

5. स्मोकिंग से दूर रहें

स्मोकिंग के कारण ना सिर्फ आपके फेफड़ों बल्कि आपके वजाइना पर भी बराबर असर पड़ता है। इसलिए कोशिश करें कि आप अपनी स्मोकिंग को या तो बहुत कम कर दें या फिर बिल्कुल बंद कर दें।

वैजाइना में खुजली, जलन, गंध और अलग डिस्चार्ज होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

तो यह थी वजाइना का pH बैलेंस रखने की आसान टिप्स।

Email us at connect@shethepeople.tv