पल्स ऑक्सीमीटर है जरुरी  – ये ऑक्सीमीटर एक छोटा सा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है। इसके बीच में ऊँगली फसायी जाती है और रेटिंग देखी जाती है। इस में दो रेटिंग आती हैं एक ऑक्सीजन की और एक पल्स की। एक नार्मल ऑक्सीजन लेवल 95 से ऊपर होना चाहिए। अगर आपकी ऑक्सीजन लेवल इस से कम होती है तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास अस्पताल में चले जाना चाहिए।

आपके पास पल्स ऑक्सीमीटर क्यों होना चाहिए ?

कोरोना की दूसरी लहर हमारे सर पर है ऐसे में न जाने कितने ही लोग ऑक्सीजन की कमी से और मेडिकल बेड की कमी से मर रहे हैं। कोरोना वायरस की बीमारी में अधिकतर लोग सांस लेने में दिक्कत महसूस करते हैं। इसलिए लोगों को हर फैमिली में इस कोरोना के मुश्किल वक़्त में पल्स ऑक्सीमीटर रखना चाहिए।

पल्स ऑक्सीमीटर का काम क्या होता है ?

ये ऑक्सीमीटर एक छोटा सा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है। इसके बीच में ऊँगली फसायी जाती है और रेटिंग देखी जाती है। इस में दो रेटिंग आती हैं एक ऑक्सीजन की और एक पल्स की। एक नार्मल ऑक्सीजन लेवल 95 से ऊपर होना चाहिए। अगर आपकी ऑक्सीजन लेवल इस से कम होती है तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास अस्पताल में चले जाना चाहिए।

कोरोना होने पर क्या करें ?

घर पर आराम से रहें और कोई भी काम न करें रिलैक्स हो जाएं। ऐसा कुछ न करें जिस से आपको वीकनेस हो सकती है और आप थक सकते हैं। इसके बाद डॉक्टर से संपर्क करें और उनसे सलाह लें कि आपको अस्पताल जाना चाहिए या नहीं और घर पे कैसे इलाज करना हैं।

कोरोना होने पर आपको वीकनेस बहुत ज्यादा हो जाती है जिस से आप पैनिक करते हो टेंशन लेते हो आपकी बॉडी और सर में बहुत ज्यादा दर्द होता है। कोविद में सबसे जरुरी है आराम करना इसलिए आप प्रॉपर खाना खाकर दवाई लेके आराम करें। कोविद कि दवाइयाँ काफी भारी होती हैं और अगर आप इनको लेने को सोएंगे नहीं तो आपकी दिक्कत और बढ़ सकती है।

Email us at connect@shethepeople.tv