कलाकार या अभिनेता जो फिल्म, थिएटर और टेलीविजन में काम करते हैं, इनमे से काफी सारे लोग लिंग समानता को बढ़ावा देने के लिए खुलकर सामने आये हैं, लेकिन मुश्किलें अभी भी बनी हुई हैं। लिंग भेद की खाई बनी रहती है और लड़कियों को बाहरी दबाव के कारण स्कूल छोड़ने की संभावना लड़कों की तुलना में अधिक है। इस तरह की कुछ प्रमुख रूढ़ियाँ उनके सपनों के बीच खड़ी होती हैं। इस असंतुलन को मिटाने के लिए, सेलिब्रिटीज शिक्षा के क्षेत्र में महिलाओं के अधिकारों में तेजी लाने के लिए निर्णायक कार्रवाई कर रहे हैं।

image

आइये जानते हैं बॉलीवुड के कुछ मश्हूर सेलिब्रिटीज को जो शिक्षा में समानता को अपना समर्थन दे रहे हैं।

शाहरुख खान के नाम पर चार साल की पीएचडी स्कालरशिप

मेलबर्न की ला ट्रोब यूनिवर्सिटी ने हाल ही में सुपरस्टार शाहरुख खान के नाम पर एक स्कालरशिप की घोषणा की है। पीएचडी स्कालरशिप  का उद्देश्य भारत के महिला रीसर्चर्स को प्रेरित करना है। उम्मीदवार को $ 200,000 से अधिक मूल्य के चार साल के रिसर्च स्कालरशिप के लिए फण्ड दिया जाएगा।

इंसानियत और सामाजिक न्याय कारणों पर शाहरुख खान से प्रेरित होकर चार वर्षीय पीएचडी स्कालरशिप का उद्देश्य भारत की  महिला रेसेअर्चेर्स को प्रेरित करना है ताकि वह हमारे समय की बढ़ती चुनौतियों का समाधान खोजने में मदद करने के लिए रिसर्च कर सके।”

“इंसानियत और सामाजिक न्याय कारणों पर शाहरुख खान से प्रेरित होकर, इस चार वर्षीय पीएचडी स्कालरशिप का उद्देश्य भारत की महिला रेसेअर्चेर्स को प्रेरित करना है ताकि वह हमारे समय की बढ़ती चुनौतियों का समाधान खोजने में मदद करने के लिए रिसर्च कर सके। यूनिवर्सिटी  ने दावा किया है कि खान की महिला सशक्तिकरण के प्रति समर्पण की पहचान उनके मीर फाउंडेशन के माध्यम से की जा सकती है।

यूनाइटेड नेशंस की वुमन गुडविल एम्बेसडर एम्मा वाटसन

अभिनेत्री एम्मा वाटसन, जुलाई 2014 के बाद से यूनाइटेड नेशंस वुमन गुडविल एम्बेसडर हैं और लिंग समानता को बढ़ावा देने के लिए यूनाइटेड नेशंस के महिला कैंपेन हीफॉरशी की वकालत करती हैं।

24 साल की एम्मा, कई वर्षों से लड़कियों की शिक्षा को दृढ़ता से बढ़ावा देती है और पहले उनके मानवीय प्रयासों के हिस्से के रूप में बांग्लादेश और जाम्बिया का दौरा किया था। हैरी पॉटर की अभिनेत्री ने कहा, “यूनाइटेड नेशंस वुमन गुडविल एम्बेसडर के रूप में सेवा करने के लिए चुने जाना वास्तव में बहुत विनम्र है।”

“एक वास्तविक अंतर बनाने का मौका एक अवसर नहीं है जो हर किसी को दिया जाता है यह एक मौका है जिसे  हल्के में लेने का मेरा कोई इरादा नहीं है। महिलाओं के अधिकार कुछ ऐसे अटूट हैं जो मेरे साथ जुड़े हुए हैं, मेरे जीवन में इतने गहरे और व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए इतने ज़रूरी हैं कि मैं ऐसे अवसर की कल्पना नहीं कर सकती हूं। मुझे अभी भी बहुत कुछ सीखना बाकी है, लेकिन जैसे-जैसे मैं आगे बढ़ रही हूं, मुझे इस भूमिका के लिए अपने व्यक्तिगत ज्ञान, अनुभव और जागरूकता को और अधिक लाने की उम्मीद है। ”

प्रियंका चोपड़ा का अभियान लड़कियों की शिक्षा के लिए

2014 में, फ्रीडा पिंटो के साथ प्रियंका चोपड़ा ने लड़कियों की शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक बहु-स्तरीय वैश्विक अभियान चलाया “गर्ल राइजिंग ” डाक्यूमेंट्री के साथ जिसमे मुख्या भूमिका में दो सितारे और सात अन्य बॉलीवुड अभिनेत्रियां  नज़र आयी।

“मैं शुरुआत से ही’ गर्ल राइजिंग ’अभियान का हिस्सा रही हूं और इस शक्तिशाली विचार को भारत में लाने में सक्षम होने के लिए सम्मानित महसूस करती हूं। मैं इस इंडस्ट्री  में अपने सहयोगियों से मिले समर्थन के लिए बेहद विनम्र और कृतज्ञ हूं।

एक पीढ़ी की रक्षा करती हुई करीना कपूर

अभिनेत्री करीना कपूर उन अभियानों का हिस्सा रही है जो बच्चों की शिक्षा और महिलाओं की सुरक्षा को बढ़ावा देती हैं। 2010 में, कपूर ने मध्यप्रदेश के चंदेरी गाँव को ऍनडीटीवी के ग्रीनथॉन अभियान के हिस्से के रूप में अपनाया वह शक्ति अभियान की एम्बेसडर भी थीं। 2014 में, उन्होंने कश्मीर फ्लड रिलीफ  के लिए दान भी किया।

2010 में, करीना कपूर ने मध्यप्रदेश के चंदेरी गाँव को ऍनडीटीवी के ग्रीनथॉन अभियान के हिस्से के रूप में अपनाया, गाँव को बिजली की नियमित आपूर्ति प्रदान करने के लिए, और बाद में सभी के लिए अंतर्राष्ट्रीय अभियान, 1 गोल शिक्षा में भाग लिया।

Email us at connect@shethepeople.tv