फ़ीचर्ड

वेजाइनल पैन क्या है और इसके कारण

Published by
paschima

वेजाइनल पैन कारण  – महिलाओं को अक्सर पीरियड्स के वक़्त वेजाइना में दर्द होता है। लेकिन कई बार दर्द का कारण पीरियड्स नहीं होते। और ऐसे दर्द को नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। दर्द चाहे काम हो या ज्यादा उसके पीछे का कारण पता होना चाहिए। यह दर्द आपके एक्चुअल वेजाइना जो अंदरूनी ऑर्गन होता है वहां से आसकता है।

जानिए वेजाइनल पैन के 6 कारण –

1 ) यीस्ट इन्फेक्शन –

यह सबसे कॉमन कारण होता है वेजाइना में दर्द होने का। और कमसेकम 75 प्रतिशत महिलाओं अपने जीवन में एक न एक बार यह इन्फेक्शन ज़रूर होता है। यह इन्फेक्शन सेक्सुअल इंटरकोर्स से नहीं होता। यीस्ट इन्फेक्शन की वजह से आपको इचिंग , जलन और वाइट डिस्चार्ज भी हो सकता है।

2 ) बैक्टीरियल इन्फेक्शन –

बैक्टीरियल इन्फेक्शन्स या बैक्टीरियल वेजिओनिसिस भी एक कॉमन इन्फेक्शन है। यह इन्फेक्शन ज्यादातर उन लोगों में पाया जाता है जो सेक्सुअली एक्टिव होते हैं। इस इन्फेक्शन में आपको दर्द , इचिंग , जलन और फ़िशी स्मेल की समस्या होती है। अक्सर लोग इसे यीस्ट इन्फेक्शन समझ लेते हैं। लेकिन दोनों अलग हैं और दोनों के इलाज भी अलग होता है।

3 ) फिजिकल पैन –

कई बार वेजाइना में दर्द का कारण होता है बहार से चोट लग जाना। कभी कहीं गिरने से या टकराने से या शेव करते समय कट जाने से दर्द होता है। कई बार डिलीवरी के समय भी आपके मसल्स टूट जाते हैं और उस वजह से भी दर्द होता है।

4 ) एंडोमेट्रिओसिस –

यह तब होता है जब आपका गर्भाशय अस्तर आपके श्रोणि के अन्य क्षेत्रों में बढ़ता है। इस स्थिति में न केवल सेक्स और पीरियड्स के दौरान अधिक दर्द होता है, बल्कि इससे इनफर्टिलिटी भी हो सकती है। अन्य लक्षणों में शामिल हैं – कॉन्स्टिपेशन , नौसिया , डायरिया, पेशाब में दर्द। यह छोटा लगता है लेकिन इससे ओवरीज़ के कैंसर होने का भी डर रहता है।

5 ) पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शन –

पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को नुकसान योनि, पेट और पीठ में दर्द हो सकता है, साथ ही साथ अन्य क्षेत्रों में मांसपेशियों को प्रभावित कर सकता है। पैल्विक फ्लोर की समस्याओं के जोखिम को बढ़ाने वाले कुछ कारकों में शामिल हैं: उम्र ,गर्भावस्था, प्रसव से चोट ,एपीसीओटॉमी, जो कि श्रम के दौरान योनि के खुलने को बढ़ाने के लिए एक सर्जिकल चीरा है।

6 ) बर्थोलिन्स सिस्ट –

बर्थोलिन की ग्रंथियां योनि के प्रवेश द्वार के दोनों ओर होती हैं और इसे लुब्रिकेट करने में मदद करती हैं। इन ग्रंथियों में से एक में रुकावट एक सिस्ट को जन्म दे सकती है, जो एक सख्त गांठ की तरह महसूस हो सकती है या एक दाना जैसा दिख सकता है। सिस्ट दर्द पैदा कर सकती है, आमतौर पर योनि के एक तरफ। बर्थोलिन के अल्सर गायब होने या फटने से पहले कई दिनों तक बड़े हो सकते हैं। कभी-कभी, वे संक्रमित हो जाते हैं, जिससे तीव्र दर्द होता है।

Disclaimer: This is publicly collected information. For any professional help, please connect with your doctor

Recent Posts

स्टडी में सामने आया कोरोना पेशेंट के आंसू से भी हो सकता है कोरोना

कोरोना की दूसरी लहर फिल्हाल थमी ही है और तीसरी लहर के आने को लेकर…

2 mins ago

रियल लाइफ चक दे! इंडिया मूमेंट : भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफइनल में पहुंच कर रचा इतिहास

गुरजीत कौर के एक गोल ने महिला टीम को ओलंपिक खेलों में अपने पहले सेमीफाइनल…

49 mins ago

मेरी ओर से झूठे कोट्स देना बंद करें : शिल्पा शेट्टी का नया स्टेटमेंट

इन्होंने कहा कि यह एक प्राउड इंडियन सिटिज़न हैं और यह लॉ में और अपने…

3 hours ago

नीना गुप्ता की Dial 100 फिल्म के बारे में 10 बातें

गुप्ता और मनोज बाजपेयी की फिल्म Dial 100 इस हफ्ते OTT प्लेटफार्म पर रिलीज़ हो…

3 hours ago

Watch Out Today: भारत की टॉप चैंपियन कमलप्रीत कौर टोक्यो ओलंपिक 2020 में गोल्ड जीतने की करेगी कोशिश

डिस्कस थ्रो में भारत की बड़ी स्टार कमलप्रीत कौर 2 अगस्त को भारतीय समयानुसार शाम…

4 hours ago

Lucknow Cab Driver Assault Case: इस वायरल वीडियो को लेकर 5 सवाल जो हमें पूछने चाहिए

चाहे लड़का हो या लड़की किसी भी व्यक्ति के साथ मारपीट करना गलत है। लेकिन…

5 hours ago

This website uses cookies.