पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज प्रधानमंत्री मोदी की कोरोनावायरस पर ऑनलाइन बैठक में शामिल होने के बाद कहा, ‘ पी एम ने हमें बुला कर हमसे बात ही नहीं की।’ जानिए ममता बनर्जी ने पीएम मीटिंग पर अपनी बात रखते हुए और क्या कहा।

पीएम मोदी की कोरोना मीटिंग

पीएम मोदी अब तक कई बार करो ना के संदर्भ में मीटिंग रख चुके हैं। उसी तरह से उन्होंने आज भी कोरोना पर ऑनलाइन बैठक रखी थी जिसमें उन्होंने 10 राज्यों के 54 डीएम को बुलाया था।

इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी शामिल किया गया था लेकिन ममता बनर्जी को पीएम मोदी की यह ऑनलाइन बैठक पसंद नहीं आई।

ममता बनर्जी का पीएम मोदी की मीटिंग पर बयान

उन्होंने कहा, ‘ हमें मीटिंग में बुलाया गया लेकिन पीएम ने हमसे बात ही नहीं की क्योंकि हमें बोलने की अनुमति थी ही नहीं। ‘

‘ अगर राज्यों को बोलने की अनुमति ही नहीं है तो उन्हें बुलाया क्यों है। सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को ना बोलने की अनुमति पर प्रोटेस्ट करना चाहिए। ‘, मोदी की मीटिंग खत्म होने के बाद ममता बनर्जी ने पीएम मीटिंग पर कहा।

‘ कुछ बीजेपी के मुख्यमंत्रियों ने और खुद प्रधानमंत्री ने कुछ स्पीच दी और मीटिंग खत्म कर दी। यह बिल्कुल कैजुअल मीटिंग थी।’ – ममता बनर्जी।

ममता बनर्जी की शिकायत

‘ हमें बहुत ही अपमानित महसूस हुआ। पीएम मोदी ने ना तो वैक्सीन के बारे में कुछ पूछा ना राम तस्वीर इंजेक्शन के बारे में कुछ पूछा। इसके अलावा उन्होंने ब्लैक फंगस केसेस के ऊपर भी कोई बात नहीं की। ‘ ममता बनर्जी ने पीएम मीटिंग पर शिकायती लहज़े में कहा।

ममता बनर्जी मीटिंग में अपने राज्य में वैक्सीन की कमी पर प्रधानमंत्री से बात करना चाहती थी लेकिन उन्हें बोलने का मौका नहीं दिया गया। ममता बनर्जी ने बाकी सब बातों के साथ यह भी कहा।

पीएम मोदी ने अपनी मन की बात में कोरोना वायरस को धूर्त और बहुरूपिया कहकर पुकारा और कहा कि हमें इस महामारी से लड़ने के लिए अपनी पूरी तैयारियां अच्छे से करनी होंगी।

Email us at connect@shethepeople.tv