आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में इंसान के पास किसी भी चीज़ को समय पर करने का समय ही नहीं रहता। इंसान ना खाता समय से है और ना ही सोता समय से है। लेट सोने के नुकसान आपकी जान पर भारी भी पढ़ सकता है इसलिए इस आदत पर खास तौर से ध्यान दें। लोगों को लगता है कि सब ऐसा ही करतें हैं तो वो चीज़ सही हो जाती है जैसे कि लेट सोना। लेट सोना नई उम्र के बच्चों में ज्यादातर देखने को मिलता है इनको लगता है कि ये एक फ्लेक्सिबल और कूल लाइफस्टाइल है पर ये एकदम गलत है।

आलसी हो जाना

जब इंसान रात को लेट सोता है तो फिर वो सुबह देर से उठता है और कई लोग ऐसे हैं जिनको सुबह स्कूल, कॉलेज या फिर जॉब पर जाना होता है। जब नींद पूरी नहीं हो पाती है और फिर दिन भर नींद में और आलस में ही कट जाता है। इस से हमारे वर्क पर भी फर्क पढता है क्योंकि हम फ्रेश नहीं रहते है तो ठीक से एक्टिवली सोच नहीं पातें हैं।

लेट सोने से बॉडी कमज़ोर होना

जब हम रात को लेट तक जागते हैं तो ज़ाहिर सी बात है कि हम फ़ोन या लैपटॉप चला रहे हैं। फ़ोन, टीवी और लैपटॉप की लाइट आँखों के लिए नुकसान दायक होती है खास तौर पर जब हम रात के अँधेरे में जो लाइट्स ऑफ होने के बाद कम्बल या चादर के अंदर चलाते हैं। लेट सोने के नुकसान में शरीर कमज़ोर होना भी आता है आँखों पर प्रेशर से शरीर कमज़ोर होता है।

दिनचर्या बिगड़ जाना

जब हम रात को लेट सोते है तो सुबह लेट उठने के कारण हम नाश्ता स्किप कर देतें हैं या काफी लेट करतें हैं। इस से हमारी पूरे खाने की और डाइजेशन कि साइकिल बिगड़ जाती है। इस से हमारी बॉडी एक्टिव नहीं रहती और हमारा काम पर फोकस नहीं हो पाता है। लेट उठने से ये भी देखा गया है कि एक इंसान पूरे दिन मे रहता है और उसका दिमाग अच्छी काम नहीं करता है।

Email us at connect@shethepeople.tv