न्यूज़

नेशनल साइंस एकेडमी की हेड बनी बायोलॉजिस्ट चंद्रिमा शाहा

Published by
Ayushi Jain

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी की पूर्व निदेशक चंद्रिमा शाहा को इंडियन नेशनल साइंस अकादमी (इंसा) की पहली महिला अध्यक्ष चुना गया है। इंसा की वेबसाइट के मुताबिक शाहा 2020 से अपना कार्यभार संभालेंगी। बतौर अध्यक्ष उन पर विज्ञान को पब्लिक के बीच बढ़ावा देने की जिम्मेदारी होगी और साथ ही उन्हें विदेशी संस्थानों के साथ कॉन्ट्रैक्ट पर ज़्यादा ध्यान देना होगा।

शाहा 1984 में  अपनी रिसर्च पूरी करने के बाद भारत वापिस आयी थीं। तब से वह नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी में प्रोफेसर हैं। इंसा की स्थापना जनवरी 1935 में भारत में विज्ञान को बढ़ावा देने और मानवता व राष्ट्रीय विकास के लिए वैज्ञानिक ज्ञान को बढ़ाने के लिए की गई थी।

शुरुआत में, जब हमने अपना करियर शुरू किया, तो कोई भी महिला वैज्ञानिकों से हाथ मिलाना पसंद नहीं करता था शाह प्रिंट को बताते हुए याद करती हैं, ” उनके पुरुष सहयोगियों द्वारा उन्हें पूरी तरह से” अनदेखा “किया जाता था ।” यहां तक ​​कि” कैरियर महिला “से शादी करने वाले पुरुष वैज्ञानिकों सभी से अच्छे से बात करते थे लेकिन उनकी महिला सहयोगी वैज्ञानिको से नहीं ।” उन्होंने कहा

लेकिन शाह विज्ञान के क्षेत्र में कैरियर बनाने से बिलकुल नहीं डरी।

उन्होंने कहा, “मै विज्ञान से बहुत ज़्यादा प्रेरित थी । मुझे पता था कि यह कहीं भी नहीं रुकेगा। मैंने हमेशा सोचा था कि मुझे आगे बढ़ते रहना है। मैं अब भी यही कर रही हूं,” उन्होंने द प्रिंट को बताया। लेकिन समाज का “दृष्टिकोण” अब “आत्म-सुधार मोड” में बदल रहा है, उनके  विचार में।

मुझे लगता है कि विज्ञान में विविधता बहुत महत्वपूर्ण है – दोनों पुरुषों और महिलाओं को रिसर्च में भाग लेने की आवश्यकता है। स्वभाव से महिलाएं, चीजों के बारे में अधिक ईमानदार और विशेष हैं। उन्हें देश के वैज्ञानिक प्रयास की दिशा में बड़े पैमाने पर भाग लेना चाहिए,” उन्होंने कहा।

रिसर्च और बायोलॉजी में जाने से पहले , विशेष रूप से, शाह एक क्रिकेटर और ऑल इंडिया रेडियो के लिए एक कमेंटेटर भी थी , उन्होंने द हिंदू को बताया। क्रिकेट खेलने से उन्हें टीम वर्क का मूल्य समझ आया।

कलकत्ता यूनिवर्सिटी से विज्ञान में पोस्ट- ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने 1980 में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल बायोलॉजी से डॉक्टरेट रिसर्च पूरा किया। यूनिवर्सिटी ऑफ कैनसस मेडिकल सेंटर में, उन्होंने दो साल बाद डॉक्टरेट रिसर्च किया और अगले कुछ वर्षों तक न्यूयॉर्क शहर की पापुलेशन कौंसिल में रहीं। 1984 में, शाह एक रिसर्चर के रूप में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी में शामिल हुई ।

Recent Posts

Tapsee Pannu & Shahrukh Khan Film: तापसी पन्नू और शाहरुख़ खान कर रहे साथ में फिल्म “Donkey Flight”

इस फिल्म का नाम है "Donkey Flight" और इस में तापसी पन्नू और शाहरुख़ खान…

19 hours ago

Raj Kundra Porn Case: शिल्पा शेट्टी के पति ने कहा कि उन्हें “बलि का बकरा” बनाया जा रहा है

पोर्न रैकेट चलाने के मामले में बिज़नेसमैन राज कुंद्रा ने शनिवार को एक अदालत में…

20 hours ago

हैवी पीरियड्स को नज़रअंदाज़ करना पड़ सकता है भारी, जाने क्या हैं इसके खतरे

कई बार महिलाओं में पीरियड्स में हैवी ब्लड फ्लो से काफी सारा खून वेस्ट हो…

20 hours ago

झारखंड के लातेहार जिले में 7 लड़कियां की तालाब में डूबने से मौत, जानिये मामले से जुड़ी ज़रूरी बातें

झारखंड में एक प्रमुख त्योहार कर्मा पूजा के बाद लड़कियां तालाब में विसर्जन के लिए…

21 hours ago

झारखंड: लातेहार जिले में कर्मा पूजा विसर्जन के दौरान 7 लड़कियां तालाब में डूबी

झारखंड के लातेहार जिले के एक गांव में शनिवार को सात लड़कियां तालाब में डूब…

21 hours ago

This website uses cookies.