न्यूज़

स्मृति ईरानी ने अमेठी से उनके सहयोगी की अर्थी को कन्धा दिया , तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल

Published by
Ayushi Jain

उत्तर प्रदेश के अमेठी में शनिवार को गोली लगने से बीजेपी के एक सदस्य सुरेंद्र सिंह की मौत हो गई । अपनी पार्टी के सहकर्मी के लिए स्मृति ईरानी का उनकी अर्थी को कन्धा देने का एक वीडियो वायरल हुआ है। बरौलिया गाँव के पूर्व ग्राम प्रधान और भाजपा नेता स्मृति ईरानी के करीबी सुरेन्द्र सिंह को पिछले सप्ताह उनके घर पर हमलावरों ने गोली मार दी थी। स्मृति ईरानी के अमेठी संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव जीतने के कुछ ही दिनों बाद यह घटना हुई।

जैसे ही स्मृति ईरानी ने अपने सहयोगी की अर्थी को कन्धा दिया, सोशल मीडिया बड़ी संख्या में उनका समर्थन करने और उन्हें महिला सशक्तीकरण का प्रतीक कहने के लिए सामने आया। पत्रकार पल्लवी घोष ने कहा, “यह सच्ची महिला सशक्तीकरण का सबसे अच्छा प्रतीक है। जो लोग समझ नहीं पाते हैं, कई महिलाओं को तो आरती भी उतारने की अनुमति नहीं है ।”

‘कोई शक नहीं कि यह छवि एक अत्यंत शक्तिशाली संदेश भेजती है, कि महिलाओं को पुरुषप्रधान समाज की बेड़ियों को तोड़ना चाहिए और महिला सशक्तीकरण की नई परिभाषा लिखनी चाहिए। भारत में सदियों से केवल पुरुष सदस्यों को ही परंपरा के अनुसार अर्थी को कन्धा देने की अनुमति दी जाती रही है, लेकिन स्मृति ईरानी का ऐसा करना निश्चित रूप से एक न्य चलन शुरू करेगा।

भारत में प्रियजनों के अंतिम संस्कार में शामिल होने का अधिकार महिलाओं को हासिल करना पड़ता है।

“यह वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत ने अपने बहादुर बच्चे सुरेंद्र सिंह को खो दिया। अमेठी के लोगों ने सही सांसद को चुना है, उम्मीद है कि संविधान के अनुसार चीजें बेहतर होंगी। @स्मृतीरानी हर महिला के लिए एक प्रेरणा है, ”एक और महिला ने कहा।

सुरेंद्र सिंह की हत्या की खबर मिलने पर, स्मृति ईरानी जल्द से जल्द  हवाई जहाज़ के ज़रिये अमेठी पहुंची और सुरेंद्र के परिवार को संतावना दी और उन्हें शोक व्यक्त करते हुए उनके साथ दो घंटे बिताए। स्मृति ईरानी ने अपने सहायक की अर्थी को कंधा देकर न केवल बेटियों और महिलाओं के लिए एक मजबूत संदेश दिया है बल्कि उन बेटियों को भी हिम्मत दी है जिन्हे  पारंपरिक रूप से मृतक के दाह संस्कार में साथ जाने के अवसर से वंचित किया गया है, बल्कि शासन के मानवीय चेहरे को भी प्रकट किया है।

“मैंने सुरेंद्र सिंह जी के परिवार के सामने शपथ ली है –  जिसने गोली चलाई और जिसने इस बात का आदेश दिया – भले ही मुझे दोषियों को मौत की सजा दिलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाना पड़े, हम अदालत के दरवाजे खटखटाएंगे,” उन्होंने द हिंदुस्तान टाइम्स को दिए एक बयान में कहा ।

Recent Posts

रानी रामपाल: कार्ट पुलर की बेटी ने भारत को ओलंपिक में एक ऐतिहासिक जीत दिलाई

भारतीय महिला हॉकी टीम ने सोमवार (2 अगस्त) को तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को…

9 hours ago

टोक्यो ओलंपिक: गुरजीत कौर कौन हैं ? यहां जानिए भारतीय महिला हॉकी टीम की इस पावर प्लेयर के बारे में

मैच के दूसरे क्वार्टर में गुरजीत कौर के एक गोल ने भारतीय महिला हॉकी टीम…

9 hours ago

मंदिरा बेदी ने कहा जब बेटी तारा हसने को बोले तो मना कैसे कर सकती हूँ?

मंदिरा ने वर्क आउट के बाद शॉर्ट्स और टॉप में फोटो शेयर की जिस में…

9 hours ago

क्रिस्टीना तिमानोव्सकाया कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

एथलीट ने वीडियो बनाया और इसे सोशल मीडिया पर साझा करते हुए कहा कि उस…

10 hours ago

लखनऊ कैब ड्राइवर मारपीट वीडियो : DCW प्रमुख स्वाति मालीवाल ने UP पुलिस से जांच की मांग की

लखनऊ कैब ड्राइवर मारपीट वीडियो मामले में दिल्ली महिला आयोग (DCW) की प्रमुख स्वाति मालीवाल…

10 hours ago

स्टडी में सामने आया कोरोना पेशेंट के आंसू से भी हो सकता है कोरोना

कोरोना की दूसरी लहर फिल्हाल थमी ही है और तीसरी लहर के आने को लेकर…

11 hours ago

This website uses cookies.