23 वर्षीय भारतीय मूल की एक डॉक्टर को दर्जनों अन्य मॉडलों से कम्पटीशन जीतने के बाद मिस इंग्लैंड का ताज पहनाया गया है, मीडिया ने शुक्रवार को रिपोर्ट में बताया।

image

डर्बी की 23 वर्षीय भाषा मुखर्जी के पास दो अलग-अलग मेडिकल डिग्रियां हैं, जिसमें 146 का आईक्यू है, जो उन्हें आधिकारिक तौर पर ‘जीनियस’ बनाता है और वो  पांच भाषाएं बोलने में सक्षम है।

वह दो ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल कर चुकी है: एक मेडिकल साइंसेज में और एक नॉटिंघम विश्वविद्यालय से चिकित्सा और सर्जरी में।

उन्हें गुरुवार शाम को मिस इंग्लैंड के फाइनल में पहुंचने के कुछ ही घंटों बाद बोस्टन के एक अस्पताल में जूनियर डॉक्टर के रूप में अपनी नई नौकरी की शुरुआत करनी थीं।

“कुछ लोग सोच सकते हैं कि ब्यूटी कांटेस्ट में हिस्सा लेने वाली लड़कियाँ बहुत घमंडी होती है । ” उसने प्रतियोगिता से पहले कहा।

मेरे ग्लैमर के करियर की शुरुआत तब हुई जब मैं मेडिकल स्कूल में पढ़ाई के बीच में थी – मुझे ऐसा करने में बहुत यकीन था, लेकिन आखिरकार मैंने इसे अपनी पढ़ाई के साथ संतुलित करने और  एक ब्रेक देने का फैसला किया। “

मुखर्जी का जन्म भारत में हुआ था। जब वह नौ साल की थीं, तब उनका परिवार ब्रिटेन आ गया था ।

वह दो ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल कर चुकी है: एक मेडिकल साइंसेज में और एक नॉटिंघम विश्वविद्यालय से चिकित्सा और सर्जरी में।

डर्बी की भाशा मुखर्जी के पास दो अलग-अलग मेडिकल डिग्रियां हैं, जिसमें उनके पास 146 का आईक्यू है, जो उन्हें आधिकारिक तौर पर ‘जीनियस’ बनाता है और तो और वह पांच भाषाएँ जानती है।

मिस इंग्लैंड की विजेता के रूप में, वह मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में प्रवेश करेगी और मॉरीशस में एक छुट्टी भी बिताएंगी।

यह वाकई भारत के लिए बहुत गर्व की बात है की भारतीय मूल के निवासी देश -विदेश में भारत का नाम रोशन कर रहे हैं।हाल ही में गुजरात की प्रीती पटेल लंदन की गृह मंत्री बनी थी ।

Email us at connect@shethepeople.tv