हृदय मोहिनी निधन : ब्रह्म कुमारीज की चीफ़ एडमिनिस्ट्रेटर दादी हृदय मोहिनी का गुरुवार को मुंबई के एक निजी अस्पताल में 93 वर्ष की आयु में हुआ निधन। ब्रह्मा कुमारीज की प्रवक्ता ने बताया कि हृदय मोहिनी का मुंबई के सैफी अस्पताल में पिछले 15 दिनों से अज्ञात बीमारी का इलाज चल रहा था। उन्होंने कहा कि एक साल पहले दादी जानकी की मृत्यु के बाद आध्यात्मिक संगठन में हृदय मोहिनी को चीफ़ एडमिनिस्ट्रेटर के रूप में नियुक्त किया गया था।

13 मार्च को होगा अंतिम संस्कार

मोहिनी के शव को अबू रोड स्थित ब्रह्म कुमारीज मुख्यालय लाया जाएगा। जनता शुक्रवार को मोहिनी के अंतिम दर्शन कर के अपना सम्मान व्यक्त कर सकती है। प्रवक्ता के अनुसार उनका अंतिम संस्कार 13 मार्च को किया जाएगा।

दादी हृदय मोहिनी को ब्रह्म कुमारियों के संगठन और उनके अनुयायियों के बीच “राजयोगिनी” के रूप में जाना जाता था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर दादी हृदय मोहिनी को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि मोहिनी को मानवीय पीड़ा और आगे सामाजिक सशक्तिकरण के प्रयासों के लिए कई प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। मोदी ने लिखा, “उन्होंने ब्रह्मा कुमारीज के परिवार के सकारात्मक संदेश को विश्व स्तर पर फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।” उन्होंने कहा कि वह उसके निधन से दुखी है।

भारत के उपराष्ट्रपति सहित कई बड़ी हस्तियों ने मोहिनी की मौत पर अपना दुख व्यक्त किया।

हृदय मोहिनी का 93 साल में निधन 

Email us at connect@shethepeople.tv