कोरोनोवायरस जिसकी शुरुआत वुहान से हुई थी, अब चीन के बाद दुनिया भर में फैल रहा है। रिपोर्ट के अनुसार इससे चीन में 2,592 लोगों की हत्या हुई है और 77,150 लोग इससे इन्फेक्टेड है। 21 अन्य देशों की तरह भारत भी घातक कोरोनावायरस से सेफ है। यहां बताया गया है कि भारत इस वायरस से कैसे निपट रहा है।

image

भारत में क्या हो रहा है

अभी, यात्रियों में कोरोनवायरस के संभावित सिम्प्टम की चेकिंग के लिए देश के 21 नामित हवाई अड्डों पर स्क्रीनिंग हो रही है। ये यात्री चीन, हांगकांग, थाईलैंड, साउथ कोरिया, सिंगापुर और जापान के हैं। भारत जल्द ही काठमांडू, इंडोनेशिया, वियतनाम और मलेशिया से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग भी शुरू करेगा।

शुरुआत में, चीन में मेडिकल ट्रेनिंग ले रहे तीन मेडिकल छात्रों ने पॉजिटिव टेस्ट किया। ये तीनों केरल के रहने वाले हैं। वुहान से निकाले गए सभी 654 भारतीयों में से सभी ने नेगेटिव टेस्ट किया। 1,700 से अधिक लोगों का टेस्ट किया गया।

हर जगह सावधानी

“हमें यकीन है कि अगर हम 2014 में इबोला को संभाल सकते हैं , तो  हम अन्य बीमारियों को भी संभाल सकते हैं और हम इस कोरोनावायरस को अच्छी तरह से संभाल सकते हैं।”

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने सीएनबीसी को बताया, “हमने जनवरी के मध्य में इस पर कार्रवाई शुरू कर दी थी, कम से कम दो सप्ताह पहले वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन ने इसे इंटरनेशनल इमरजेंसी घोषित किया था।” उन्होंने आगे कहा, “हमें हमारी सभी राज्य सरकारों का बहुत अच्छा सपोर्ट मिला है। पूरे मामले की निगरानी के लिए देश में हाई लेवल पर और राज्य सरकारों के साथ कोशिश की जा रही है। ” उन्होंने यह भी कहा कि लगभग 15,000 लोगों को बहुत एहतियात के साथ निगरानी में रखा जाता है। उन्होंने आगे कहा, “हमें यकीन है कि (अगर) हम 2014 में इबोला को संभाल सकते थे, तो हम अन्य बीमारियों को संभाल सकते है और हम इस कोरोनोवायरस को काफी अच्छी तरह से संभाल सकते हैं।”

एक उपाय के रूप में, एयर इंडिया सहित और भी स्थानीय एयरलाइन फ्लाइट्स, चीन के लिए फ्लाइट प्लान नहीं कर रही हैं। भारत ने चीन को कुछ चिकित्सा उपकरणों के निर्यात पर भी बन लगा दिया है। भारत ने कोरोनोवायरस के प्रकोप के लिए वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (डब्ल्यूएचओ) की सलाह के अनुसार सावधानी बरती।

Email us at connect@shethepeople.tv