Kerala High Court United Lesbian Couple: कोर्ट ने कपल को मिलाया

Kerala High Court United Lesbian Couple: कोर्ट ने कपल को मिलाया Kerala High Court United Lesbian Couple: कोर्ट ने कपल को मिलाया

Swati Bundela

01 Jun 2022

Kerala High Court United Lesbian Couple: केरला हाई कोर्ट ने लेस्बियन कपल को मिलाया। कुछ दिन पहले केरला से एक दिल दहला देने वाली न्यूज़ आयी थी जिस में एक लेस्बियन कपल को उनके परिवार ने अलग कर दिया था।  

केरला हाई कोर्ट में जस्टिस K विनोद चंद्रन और जस्टिस C जयचंद्रन ने कपल द्वारा लगायी गयी हैबियस कार्पस प्ली मंजूर करते हुए अधिला और उसकी पार्टनर को साथ रहने का फैसला सुनाया है। फातिमा नूरा को उनके परिवार वालों ने फाॅर्स करके अलग कर दिया था और अपने साथ ले गए थे।  

यह कपल सऊदी अरेबिया में मिला था और 19 मई को वे दोनों घर से भाग गए थे। वे सीधे कोसीखोड़े में वनजा कलेक्टिव के पास मदद के लिए पहुंचे। वे दोनों कलेक्टिव ऑफिस में ही थे जब उन दोनों के परिवार बाहर आ पहुंचे। सब लोगों ने दोनों परिवारों को समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वे नहीं माने। उन्होंने कहा कि वे दोनों लड़कियों को कभी भी साथ नहीं रहने देंगे।

कपल के अपनी बात पर अड़े रहने के बावजूद भी नूरा की फैमिली उसे ले गई। पुलिस को सामने दोनों लडकियों ने एक दुसरे के साथ रहने की इच्छा को स्वीकारा। पुलिस ने जबरदस्ती दोनों परिवारों को वहां से निकालने की कोशिश की लेकिन मैं नहीं माने। 5 दिन बाद अगला के परिवार ने लिखित में कहा कि वह दोनों लड़कियों के एक साथ रहने से सहमत हैं और उनकी सुरक्षा भी करेंगे।

अदीला के घर पर कपल को इमोशनली प्रताड़ित किया गया। एनजीओ को भेजे गए वॉइस नोट में अदीला ने कहा कि दोनों परिवार ने उन दोनों को अलग करने की साजिश की है। 23 मई को फातिमा नूरा के परिवार ने बिनानीपुरम पुलिस में कंप्लेंट दर्ज कराने की कोशिश की। लेकिन पुलिस ने मना कर दिया क्योंकि दोनों लड़कियां बालिग हैं।

पोस्ट में एनजीओ ने कहा कि जब वे फातिमा और अदिला से फोन पर बात कर रहे थे तो अचानक से डिस्कनेक्ट हो गया। उन्होंने तुरंत बिनानीपुरम पुलिस को घर जाकर लड़कियों को बचाने का आदेश दिया। लेकिन जब पुलिस घर पहुंची तो वहां केवल अदीला प्रताड़ित मौजूद थी। अब वह अलूवा के ही एक स्टे होम में रह रही है।

27 मई को अदीला और एनजीओ पुलिस के पास फातिमा की खबर जानने पहुंचे। पुलिस ने कहा कि अगर पेरेंट्स अपने बच्चों को मार रहे हैं तो वह इसमें कुछ नहीं कर सकते।अदीला अपने पार्टनर की तलाश में है। एक बार वह मिल जाए तो वे दोनों किसी दूसरे शहर में जाकर नई जिंदगी शुरु करेंगे। यह एक प्रेरणादायक स्टेप है और कोर्ट के इस फैसले से कई लोग इंस्पायर होंगे।  

अनुशंसित लेख