हरियाणा महिला आयोग (Haryana Women’s Commission) ने कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा से उस वीडियो के मुद्दे पर “सख्त स्पष्टीकरण” मांगा है जिसमें महिला विधायक रस्सियों के साथ एक ट्रैक्टर को खींचते हुए दिखाई दे रही थीं और हुड्डा उस पर बैठे हुए नज़र आ रहे थे। महिला आयोग भूपेंद्र सिंह हुड्डा ट्रैक्टर केस 

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस घटना की निंदा की

8 मार्च को आये इस वीडियो ने बहुत सारे विवाद पैदा कर दिए हैं। इससे पहले, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस घटना की निंदा की थी, “कांग्रेस महिलाओं को उन कार्यों के लिए कम कर दिया जाता है जो पुरुष भी करने से इनकार करते हैं।”

स्मृति ने कहा था, “यह बिल्कुल चौंकाने वाला दृश्य है। एक कांग्रेस नेता एक ट्रैक्टर पर शांति से बैठता है जिसे वह महिला कांग्रेस कार्यकर्ता खींच रही है। मैं समझती हूं कि वह एक पॉलिटिकल स्टेटमेंट देना चाहते हैं, विरोध करते हैं लेकिन क्या महिलाओं की कीमत पर ऐसा किया जाना चाहिए? ”

क्या है राष्ट्रीय महिला आयोग का कहना?

राष्ट्रीय महिला आयोग (National Commission Women) की प्रमुख रेखा शर्मा ने अपना बयान जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि महिला विधायक एक पुरुष राजनेता को बैठाकर ट्रैक्टर खींचती हैं, जो “महिलाओं की गरिमा को कम करता है”। उन्होंने कहा कि अगर महिला विधायक ने ये अपनी इच्छा के खिलाफ ज़बरदस्ती किया है तो वह NCW में शिकायत दर्ज करा सकती है।

रेखा शर्मा ने कहा, “अगर उस महिला को लगता है की उनसे ये जबरन करवाया गया था, तो वे हमारे पास आ सकती हैं, लेकिन फिर भी अगर उन्होंने ये अपनी स्वेच्छा से किया है, तो ट्रैक्टर पर एक व्यक्ति को यह सोचना चाहिए कि यह नहीं किया जाना चाहिए।” यदि हमें कोई शिकायत मिलती है, तो हम कार्रवाई करेंगे। भले ही हमें कोई शिकायत न मिले, लेकिन यह निंदनीय है। ”

10 मार्च को, भाजपा की कई महिला सदस्यों ने कांग्रेस के दिल्ली मुख्यालय के सामने वीडियो का विरोध किया। हुड्डा ने कहा कि महिला विधायकों ने ट्रैक्टर को रस्सियों से खींचने के लिए खुद चुना क्योंकि वे रसोई और ईंधन की बढ़ती कीमतों से सबसे ज्यादा परेशान हैं।

महिला आयोग भूपेंद्र सिंह हुड्डा ट्रैक्टर केस

Email us at connect@shethepeople.tv