Advertisment

Foods For Healthy Lungs: लंग्स के सेहत के लिए यह खाए

हमारे लंग्स(फेफड़े) हमारे शरीर को अच्छी तरह से काम करने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। पर हमारे फेफड़ों को न केवल हवा बल्कि कुछ हानिकारक तत्वों जैसे वायु प्रदूषकों और धूम्रपान को भी इन्हेल करना पड़ता है। ये प्रदूषक अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, सिस्टिक फाइब्रोसिस और निमोनिया जैसी श्वसन संबंधी स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को बढ़ाते हैं। 

Advertisment

अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखने का एक अच्छा तरीका नियमित व्यायाम करना और स्वस्थ आहार लेना है। एक स्वस्थ आहार आपको एक लंबा रास्ता तय करने में मदद करता है और आपको किसी भी बीमारी से दूर रखता है। 

भारत में, सांस की बीमारियाँ अब तक के उच्चतम स्तर पर हैं। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़शन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, 235 मिलियन लोग अस्थमा से पीड़ित हैं। इसलिए, यदि आप अपने फेफड़ों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देना चाहते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप कुछ स्वस्थ खाद्य पदार्थों को शामिल करें जो आपके फेफड़ों को सक्रिय और काम करने में मदद करेंगे।

यहां 10 खाद्य पदार्थ हैं जो आपको बेहतर सांस लेने में मदद कर सकते हैं: 

Advertisment

1. सेब

रिसर्चर्स ने विटामिन सी, ई और बीटा-कैरोटीन जो सभी सेब में मौजूद हैं, लंग्स के सेहत के लिए लाभदायक पाया है । सेब एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं जो आपके फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

2. अखरोट

Advertisment

अखरोट ओमेगा -3 फैटी एसिड का एक बड़ा स्रोत है। इससे अस्थमा और अन्य श्वसन स्थितियों से लड़ने में मदद मिल सकती है। ओमेगा -3 फैटी एसिड में एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी होती है।

3. ब्रोकली

ब्रोकली में विटामिन सी, कैरोटेनॉयड्स, फोलेट और फाइटोकेमिकल्स की मात्रा अधिक होती है जो फेफड़ों में हानिकारक तत्वों से लड़ते हैं। कहा जाता है कि ब्रोकोली में एल-सल्फोराफेन नामक एक सक्रिय घटक होता है, जो सेल्स को एंटी-इन्फ्लेमेटरी बना देते हैं जिससे लंग्स की बीमारी से बचाव होता है।

Advertisment

4. लाल मिर्च

लाल मिर्च में कैप्साइसिन स्राव को प्रोत्साहित करने में मदद करता है जो लंग्स के म्यूकस मेम्ब्रेन को सुरक्षित रखता है। इसका अस्थमा के कई लक्षणों को कम करने पर बहुत प्रभाव पड़ता है।

5. अदरक

Advertisment

अदरक न केवल सूजन-रोधी है बल्कि फेफड़ों से प्रदूषकों को खत्म करने में भी मदद करता है। अदरक कंजेशन से राहत दिलाने में मदद करता है, वायु-मार्गों को खोलता है और फेफड़ों में सर्कुलेशन में सुधार करता है, फेफड़ों के स्वास्थ्य को और बढ़ावा देता है।

6. लहसुन

लहसुन में फ्लेवोनोइड्स होते हैं जो ग्लूटाथियोन के उत्पादन को प्रोत्साहित करते हैं, जो टॉक्सिन्स और कार्सिनोजेन्स को खत्म करने में मदद करता है, और आपके फेफड़ों को बेहतर ढंग से काम करने में मदद करता है।

7. हल्दी

हल्दी में सूजन-रोधी गुण होते हैं, इसमें मौजूद करक्यूमिन कंपाउंड की बदौलत। यह वायु मार्ग की सूजन और अस्थमा से जुड़ी छाती की जकड़न को दूर करने में मदद करता है।

Advertisment