क्या आप सावित्रीबाई फुले के बारे में ये ज़रूरी बातें जानते हैं ?

सावित्रीबाई फुले

सावित्रीबाई फुले और ज्योतिराव फुले ने मिलकर देश के सबसे पहले गर्ल्स स्कूल को बनाया था और कुल 18 स्कूल का निर्माण किया था।सावित्रीबाई भारत के पहले बालिका विद्यालय (Girls School) की पहली प्रिंसिपल बनी। 

Read More
मल्लिका दुआ
Read More

मुझे फ़र्क नहीं पड़ता कोई मेरे बारे में क्या सोचता है – मल्लिका दुआ

मलिका दुआ ने अपने इंडस्ट्री के एक्सपीरियंस शेयर करते हुए कहा कि “likeable women की डेफिनेशन हमारे समाज में बहुत अलग है। अगर आप अपना पॉइंट ऑफ़ व्यू एक्सप्रेस करते हो तो आप likable women की कैटेगरी में नहीं आते ,तब आप ‘difficult’ कहलाती है।

Read More
विद्या बालन likeable
Read More

मेरे लिए खुद को पसंद करना ज़्यादा ज़रूरी है – विद्या बालन

हमारे समाज में ऐसी कई महिलाएं है जो बड़ी ही बेबाक़ी से अपने और दूसरों के लिए आवाज़ उठाती है, अपना पॉइंट ऑफ़ व्यू रखती है। ये सभी महिलाएं वो हैं , जिन्होंने हम सबको प्रेरणा देने का काम किया है।स्वरा भास्कर और विद्या बालन उन महिलाओं में से एक है। 

Read More
बच्चे की पहली टीचर मां
Read More

क्या आप अपनी बेटी को सेक्स एजुकेशन देना चाहती हैं ?

मूवी देखते समय या मूवी देखने के बाद आप मूवी सीन को अपनी बेटी के साथ डिस्कस कर सकती हैं। इससे वो अपने व्यूज़ भी बताएगी और उसे ये लेक्चर की तरह नही लगेगा।

Read More
First Female Educators Hindi
Read More

4 महिलाएं जिन्होंने भारत में Women’s Education को बढ़ावा दिया

सावित्री बाई फुले इंडिया के सबसे पहले गर्ल्स स्कूल की पहली महिला टीचर रहीं । उनके पति ज्योतिराव फुले के साथ मिलकर सावित्री जी ने अपना सारा जीवन lower caste और महिलाओं को सशक्त करते करते बिताया ।

Read More
संतोष यादव
Read More

जानिए पर्वतारोही संतोष यादव के बारे में कुछ ख़ास बातें

1992 में पहली बार संतोष माउंट एवेरेस्ट के शिखर तक पहुंची और 1993 में फिर उन्होंने इस इतिहास को दोहराया और फिर से माउंट एवेरेस्ट के शिखर पर जा पहुँची ।

Read More

हमारे बारे में

शीदपीपल.टीवी भारत का पहला महिला-केंद्रित मीडिया प्लेटफार्म है. हम महिलाओं की जर्नी, और उनकी कहानियों को बढ़ावा देने के लिए समर्पित हैं. हम उन्हें एक ऐसे अद्बुद्ध नेटवर्क से जोड़ते हैं जो उन्हें सशक्त बनाता है,उन्हें प्रेरित करता है और उन्हें आगे बढ़ने का बढ़ावा देता है।

भारत में प्रत्येक गुज़रते साल के साथ महिलाएं ऑनलाइन आ रही हैं. उन्हें एक ऐसे प्लेटफार्म की ज़रुरत है जो उन्हें समझ पाए. हम उन महिलाओं से जुड़ते हैं जो नए विचारों और प्रेरणा के साथ दुनिया को समृद्ध करते हैं.

पुरस्कार विजेता पत्रकार शैली चोपड़ा द्वारा स्थापित, शीदपीपल.टीवी वो आवाज है जो भारतीय महिलाओं को आज चाहिए।