टॉप स्टोरीज

गुजरात के पुलिस इंस्पेक्टर एक बच्ची को बचाने के लिए वासुदेव बने

Published by
Ayushi Jain

देशभर में भारी बारिश का पानी भरने कारण बहुत से शहरों में बाढ़ की स्थिति हो गई है। बिहार, राजस्थान, गुजरात और असम जैसे कई राज्य भारी बाढ़ की चपेट में हैं। केवल गुजरात में ही 24 घंटे में 650 मिमी से अधिक बारिश हुई है जिससे बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक ऐसे पुलिस ऑफिसर की फोटो वायरल हो रही है जिन्हें लोग वासुदेव इ मुकाबला कर रहे हैं।

सब-इंस्पेक्टर गोविंद चावड़ा की फोटो वायरल हो रही है जिसमें वे एक बच्ची को टोकरी में  डालकर अपने सिर पर रखकर बाढ़  के इकठा हुए पानी से निकाल रहे हैं। बच्ची की उम्र 1.5 साल है।

दरअसल गुजरात के वडोदरा में भारी बारिश की वजह से बाढ़ आ गई है। राहत और बचाव के लिए सेना, एनडीआरएफ की पांच और एसडीआरएफ की चार टीमें दिन-रात काम कर रही हैं। इसी बीच सब-इंस्पेक्टर गोविंद चावड़ा की फोटो वायरल हो रही है जिसमें वे एक बच्ची को टोकरी में  डालकर अपने सिर पर रखकर बाढ़  के इकठा हुए पानी से निकाल रहे हैं। बच्ची की उम्र 1.5 साल है। यह नजारा कुछ ऐसा ही है जैसे वासुदेव युमना के बीच से कृष्ण जी  को टोकरी में लेकर बचाने निकले थे। सोशल मीडिया पर सब-इंस्पेक्टर गोविंद चावड़ा के इस कदम की खूब सराहना की गयी है ।

जैसा ही सब-इंस्पेक्टर जीके चावड़ा गुरुवार को बाढ़ के पानी से गुज़रे, उन्हें वहां एक सोता  हुआ बच्चा दिखा जिसके सिर के ऊपर एक हरे रंग की प्लास्टिक के टब रखा हुआ था , दर्शक मदद नहीं कर सकते थे, लेकिन वासुदेव की तुलना कर सकते थे, उसी तरह चावड़ा ने उस बच्ची को पानी से बाहर निकला जिस तरह वासुदेव ने कृष्ण को एक टोकरी में रख यमुना नदी पार करवाई थी।

एक महीने की बच्ची और उसका परिवार विश्वामित्री रेलवे स्टेशन के पास देवपुरा बस्ती में फंसे 70 लोगों में से था, और राउपुरा पुलिस थाने के सब –इंस्पेक्टर जीके चावड़ा के नेतृत्व में एक टीम ने उसे बचाया।

बाढ़ के पानी का बहाव छाती से ऊंचा था, इसलिए टीम को फंसे हुए परिवारों को सुरक्षा के लिए चलने के लिए दो पेड़ों के बीच एक रस्सी बांधनी पड़ी। लेकिन युवा दंपति, अपनी एक महीने की बेटी को बाहों में लेकर, जोखिम लेने से हिचकिचा रहे थे।

वो कपल दुविधा में था। मैंने उनसे कहा कि जल का स्तर केवल बढ़ेगा, और तुरंत बाहर जाना आवश्यक था, ”चावड़ा ने कहा। फिर उन्होंने एक कंबल में बच्चे को लपेटा और उसे एक प्लास्टिक के टब में डाल दिया।

“सौभाग्य से, मैं बिना किसी परेशानी के वह पानी को पार करने में कामयाब रहा ,” उन्होंने कहा।

Recent Posts

Deepika Padokone On Gehraiyaan Film: दीपिका पादुकोण ने कहा इंडिया ने गहराइयाँ जैसी फिल्म नहीं देखी है

दीपिका पादुकोण की फिल्में हमेशा ही हिट होती हैं , यह एक बार फिर एक…

4 days ago

Singer Shan Mother Passes Away: सिंगर शान की माँ सोनाली मुखर्जी का हुआ निधन

इससे पहले शान ने एक इंटरव्यू के दौरान जिक्र किया था कि इनकी माँ ने…

4 days ago

Muslim Women Targeted: बुल्ली बाई के बाद क्लबहाउस पर किया मुस्लिम महिलाओं को टारगेट, क्या मुस्लिम महिलाओं सुरक्षित नहीं?

दिल्ली महिला कमीशन की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने इसको लेकर विस्तार से छान बीन करने…

4 days ago

This website uses cookies.