गुरुवार दोपहर से शुरू होकर 17 नवंबर को चार दिन के लिए चलनेवाला टाटा लिटरेचर लाइव बहुत ही ज़ोरो -शोरों से चर्चा में हैं । यह फेस्ट मुंबई में आयोजित किया गया है । इस लिटरेचर फेस्ट में अलेक्जेंडर मैकल स्मिथ, एंथनी होरोविट, मोनिका अली, ट्रेसी शेवेलियर, विलियम डेलरिम्पल, मनु एस पिल्लई, पेरुमल मुरुगन, जयंत कैकिनी, शांता गोखले सहित 100 से ज़्यादा स्पीकर्स शामिल होंगे।

लेखक, ट्रांसलेटर और फिल्म क्रिटिक शांता गोखले को रविवार को टाटा लिटरेचर लाइव में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया!  उन्हें मुंबई में नेशनल सेंटर फॉर द परफॉर्मिंग आर्ट्स में आयोजित इस फेस्ट में यह पुरस्कार दिया गया। गोखले को यह पुरस्कार देने की घोषणा 6 नवंबर को की गई थी।

पीटीआई के अनुसार, गोखले ने कहा, “मुझे टाटा लिटरेचर लाइव में  लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड पाकर बहुत सम्मानित महसूस हो रहा है।” “यह अवार्ड मेरे लिए लेखन और सोच पर आगे बढ़ने का एक शानदार प्रोत्साहन है। मुझसे अक्सर अंग्रेजी और मराठी में लिखने के बारे में पूछा गया है। दोनों भाषाओं की अपना एक अलग अस्तित्व है। ”

शांता गोखले का परिचय

गोखले, 1939 में महाराष्ट्र के दहानू शहर में पैदा हुई थी । शांता गोखले को हाल ही में उनके मेमोआर वन फुट ऑन द ग्राउंड: ए लाइफ टोल्ड थ्रू द बॉडी को पब्लिश किया गया था। उन्हें 2015 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

और भी लेखकों को दिया गया सम्मान

फिक्शन केटेगरी में पहला पुरस्कार माधुरी विजय द्वारा लिखी हुई द फार फील्ड को दिया गया था। राज कमल झा ने द सिटी एंड द सी के लिए बुक ऑफ द ईयर का पुरस्कार जीता।

 नॉन-फिक्शन केटेगरी में,  पहला पुस्तक पुरस्कार ए स्ट्रेंजर ट्रुथ: लेसन इन लव, लीडरशिप एंड करेज फ्रॉम इंडियाज़ सेक्स वर्कर्स जो अशोक अलेक्जेंडर द्वारा लिखी गई है। टोनी जोसेफ ने अपनी रचना अर्ली इंडियंस- द स्टोरी ऑफ़ आवर अनसस्टर्स एंड वेयर वे के फ्रॉम  के लिए बुक ऑफ द ईयर का पुरस्कार जीता।

 पेंगुइन रैंडम हाउस को पब्लिशर ऑफ़ द ईयर का अवार्ड मिला। इस बीच, बिजनेस बुक ऑफ द ईयर अवार्ड लीपफ्रोगिंग टू पोल-वॉल्टिंग: क्रिएटिंग द मैजिक ऑफ़ रेडिकल एंड सस्टेनेबल ट्रांसफॉर्मेशन जिसे रघुनाथ माशेलकर और रवि पंडित द्वारा लिखा गया है।

 

Email us at connect@shethepeople.tv