कोरोनावायरस तेज़ी से दुनिया में पाँव पसार रहा है, और इस समय ज़रुरत है सही तरीके से खुद का व दूसरों का ध्यान रखने की। सरकार व हेल्थ ऑर्गनाइजेशन्स का कहना है कि अगर उन्हें ज़रा भी लक्षण महसूस हो रहे हैं, तो उन्हें खुद को सेल्फ आइसोलेट करना चाहिए।

आइये जानते हैं की सेल्फ आइसोलेशन के दौरान हमें क्या करना चाहिए और नहीं:

क्या करें

1. वे लोग, जिनका कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है या टेस्ट के रिजल्ट आने का इंतज़ार किया जा रहा है, उन्हें अपने घर में ही रहना चाहिए, और यह बेहतर है कि वह अपने बैडरूम में ही रहें।

2. खांसते या छींकते समय, अपनी कोहनी में खांसें या छींकें।

3. साबुन से बार-बार हाथ धोएं।

4. अगर आप या आपके घर में कोई भी इन्फेक्टेड इंसान किसी भी चीज़ को छुए, तो उसे अच्छे से डिसइंफेक्ट करें, ताकि वायरस घर के बाकि लोगों को ना हो।

5. अगर आप किसी ऐसी जगह जाते हैं जहाँ और भी लोग हों, तो फेस मास्क लगाना न भूलें और जितना हो सके हाथ धोएं। लेकिन अगर आप बैडरूम में अकेले हैं, तो वहाँ आपको मास्क लगाने की ज़रुरत नहीं है।

6. अगर आपके पार्टनर सेल्फ आइसोलेशन पर हैं, तो आपको उसी बैडरूम में नहीं सोना चाहिए।

7. अगर आप इन्फेक्टेड व्यक्ति का कुछ भी समान छू रहे हैं – चाहे उनकी प्लेट्स, या ऐसी कोई भी चीज़, जल्द-से-जल्द अपने हाथ साबुन से धो लें।

8. जिन लोगों को सेल्फ-आइसोलेशन के लिए नहीं बोला गया, वह साधारण तरीके से अपनी ज़िंदगी जीएं।

क्या ना करें:

1. घर से बाहर ना निकलें। अगर कोई किसी चीज़ की डिलीवरी देने आये, तो उसके भी कॉन्टैक्ट में ना आएं।

2. सामने की ओर या हाथ पर ना छींकें।

3. बच्चों को ना सुलाएं।

4. अगर आप बाहर जाएँ, तब भी बाकी लोगों के कॉन्टैक्ट में ना आएं।

5. अगर आप देखें कि कोई छींक रहा है या खांस रहा है, तो घबराइए मत, क्योंकि यह ज़रूरी नहीं है की उन्हें वायरस ही हो। यह नार्मल खांसी-ज़ुखाम हो सकता है। ऐसे में पैनिक करने की ज़रुरत नहीं है।

इस वक़्त ज़रुरत है ज़्यादा सतर्क रहने की। इस वायरस से हम मिल कर, अच्छी हैबिट्स के चलते ही लड़ सकते हैं, और अगर हम सभी गाइडलाइन्स को अच्छे से फॉलो करें, तो निश्चित रूप से इसे हरा सकते हैं।

यह आर्टिकल महक कौर कक्कर द्वारा लिखा गया है

 

Email us at connect@shethepeople.tv